चुनाव आयोग ने भाजपा को दिया झटका, नमो टीवी पर बिना अनुमति की पोस्ट हटानी होगी तुरंत



नई दिल्ली। नमो टीवी को लेकर भारतीय जनता पार्टी को चुनाव आयोग से बड़ा झटका लगा है। चुनाव आयोग का कहना है कि नमो टीवी पर बिना अनुमति के पोस्ट की जा रही पूरी सामग्री को तुरंत हटाना होगा।  अब चुनाव आयोग ने नमो टीवी पर कार्रवाई करते हुए यहां मौजूद सभी कॉन्टेन्ट को तत्काल प्रभाव से हटाने को कहा है। आयोग ने अपने फैसले में कहा है कि कमिटी की मंजूरी के बिना नमो टीवी पर कोई कॉन्टेन्ट ब्रॉडकास्ट न किया जाए। आयोग का कहना है कि अभी तक जो भी कॉन्टेन्ट नमो टीवी/कॉन्टेन्ट टीवी पर पोस्ट किया गया है, उसे भी हटाया जाएगा।  बता दें कि हाल ही में नमो टीवी को लॉन्च किया गया है और लोकसभा चुनाव के चलते इसे लेकर खासा विवाद भी हुआ है।


विपक्षी पार्टियों ने चुनाव आयोग से नमो टीवी को लेकर शिकायत की और इसे लेकर खूब विवाद भी हुआ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की जाने वाली रैलियों का सीधी प्रसारण नमो टीवी पर किया जा रहा था। खास बात है कि इन रैलियों में पीएम के भाषण को बिना किसी ब्रेक के दिखाया जा रहा था। लाइव ब्रॉडकास्ट के अलावा चैनल पर पीएम मोदी के पुराने इंटरव्यू और रैलियों को भी दिखाया जा रहा था। बुधवार को मोदी की बायोपिक पर लगाई थी आयोग ने रोक  बता दें कि निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने बुधवार को स्पष्ट किया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर आधारित फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगाने वाले आयोग के आदेश का नमो टीवी से कोई लेना-देना नहीं है।


इससे कुछ घंटे पहले अधिकारियों ने कहा था कि फिल्म पर आयोग का फैसला चैनल पर भी लागू होता है। अधिकारियों ने कहा कि बायोपिक पर दिए गए आदेश को उन्होंने 'गलत समझ' लिया और इसका नमो टीवी से कोई संबंध नहीं है।  न्होंने पहले कहा था कि फिल्म पर दिया गया आदेश नमो टीवी पर भी लागू होगा जिसके प्रसारण को चुनाव के दौरान अनुमति नहीं दी जा सकती। अधिकारियों ने उस वक्त आदेश के एक पैराग्राफ का संदर्भ देते हुए कहा था, 'पहले से प्रमाणित किसी भी प्रचार सामग्री से जुड़े पोस्टर या प्रचार का कोई भी माध्यम, जो किसी उम्मीदवार के बारे में चुनावी आयाम का प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से चित्रण करता हो, चुनाव आचार संहिता के दौरान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में इस्तेमाल नहीं किया जा सकेगा।'  

loading...



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति