आतंकी कमांडरों के सफाए का अभियान जारी, सेना ने अमरनाथ यात्रियों पर हमला करने वालों को किया ढेर



श्रीनगर। सुरक्षाबलों ने वादी में आतंकी कमांडरों के सफाए के अभियान को जारी रखते हुए शनिवार रात दो आतंकियों को मार गिराया। मारा गया एक आतंकी अलबदर के चीफ कमांडर जीनत उल इस्लाम उर्फ अलकामा उर्फ डॉ. उस्मान है। जिसे उसके एक साथी के साथ यारीपोरा (कुलगाम) में मुठभेड़ के दौरान मार गिराया। 12 लाख का इनामी जीनत मोस्ट वांटेड आतंकियों में से एक था।


बीए पास जीनत ने ही बीते दो सालों के दौरान मोस्ट वांटेड आतंकी रियाज नायकू व अन्य आतंकियों के साथ मिलकर पुलिसकर्मियों के परिजनों को निशाना बनाने की साजिश रची थी। वहीं, तीन पुलिसकर्मियों को अगवा कर मौत के घाट उतारने की साजिश में मुख्य भूमिका निभाई थी। इसके अलावा 2017 में अनंतनाग के पास श्री अमरनाथ तीर्थयात्रियों पर हमले में भी वह शामिल रहा है। जीनत दर्जनों आतंकी वारदात में वांछित था।


उसकी मौत सुरक्षाबलों के लिए बड़ी कामयाबी मानी जा रही है। दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले के यारीपोरा में तीन से चार आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर सेना की 34 आरआर, राज्य पुलिस विशेष अभियान दल (एसओजी) और सीआरपीएफ ने अभियान चलाया। सुरक्षाबलों को अपने तंत्र से पता चला था कि कश्मीर में अलबदर का नेटवर्क बनाने में जुटा जीनत किसी संपर्क सूत्र के पास रुका है। शाम करीब साढ़े पांच बजे जब जवानों ने कटपोरा मोहल्ले की तलाशी शुरू की तो वहां एक मकान में छिपे आतंकियों ने घेराबंदी तोड़ भागने का प्रयास किया।  

loading...



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति