होम वायु
phir-apana-marg-badal-sakata-hai-chakravati-tuphan

फिर अपना मार्ग बदल सकता है चक्रवाती तूफान वायु, गुजरात के कच्छ तट पर दे सकता है दस्तक

चक्रवाती तूफान वायु के फिर से अपना मार्ग बदलने और 17-18 जून को गुजरात के कच्छ तट पर दस्तक देने की संभावना है। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के एक शीर्ष अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। मौसम विभाग के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि चक्रवाती तूफान की प्रचंडता भी शनिवार सुबह तक कुछ कम हो जाएगी। चक्रवात चेतावनी प्रभाग ने शाम साढ़े पांच बजे एक बुलेटिन में कहा, चक्रवात पश्चिम की ओर मुड़ रहा है, जिससे पोरबंदर, देवभूमि द्वारका जिले 50-60 किमी प्रति घंटे से लेकर 70 किमी प्रति घंटे और गिर सोमनाथ और जूनागढ़ जिले 30-40 किमी प्रति घंटे से लेकर 50 किमी प्रति घंटे की गति वाले हवा के झकोरों से प्रभावित होगा।  आगे पढ़ें

cyclonic-storm-wind-threatens-gujarat-now-rising-o

चक्रवाती तूफान वायु का गुजरात से टला खतरा, अब बढ़ा ओमान की ओर, सौराष्ट्र में हो सकती है बारिश

गुजरात से वायु चक्रवात का खतरा टल गया है। यह अब ओमान की ओर बढ़ा रहा है। हालांकि अभी भी राज्य में मौसम बदल सकता है। इसके चलते ही सौराष्ट्र में आगामी 24 घंटे में भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने गांधीनगर में गुरुवार शाम को चक्रवात के हालात की समीक्षा की। रुपाणी ने बताया कि चक्रवात के कारण राज्य में एक भी मौत नहीं दर्ज हुई है। शुक्रवार सुबह चक्रवात प्रभावित दस जिलों की समीक्षा की जाएगी। तटीय जिले द्वारका, पोरबंदर, वेरावल, सोमनाथ व अमरेली में दस इंच से अधिक बारिश की चेतावनी के चलते सरकार ने सुरक्षा व बचाव कर्मियों को शुक्रवार सुबह तक यथास्थान रहने के निर्देश जारी किए हैं। चक्रवात के असर से बीते 24 घंटे में राज्यभर के मौसम में बदलाव आया है।  आगे पढ़ें

cyclonic-storm-wind-will-reach-today-gujarat-leads

चक्रवाती तूफान वायु आज दोपहर पहुंचेगा गुजरात, 3 लाख लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया

पिछले 6 घंटों में तूफान की दिशा कुछ बदली है। मौसम विभाग का मानना है कि अब इसका बड़ा हिस्सा सौराष्ट्र के समुद्र से होकर गुजर जाएगा। हालांकि खतरा पूरी तरह से टला नहीं है। यह तूफान दोपहर में गुजरात तट से टकराएगा। गुजरात और दीव सरकार ने बुधवार शाम तक चार लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का दावा किया। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में गृह, रक्षा, दूरसंचार, मौसम विभाग, एनडीएमए, इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ और राष्ट्रीय आपदा बचाव बल के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे। गुजरात के मुख्य सचिव और दीव के प्रशासक के सलाहकार  आगे पढ़ें

cyclonic-storms-show-the-effect-of-air-in-maharash

चक्रवाती तूफान वायु का महाराष्ट्र में दिखा असर, मुंबई में तेज हवाओं से गिरे पेड़

मुंबई में मौसम विभाग के उप महानिदेशक (डीडीजी) केएस होसलिकर का कहना है, 'काफी तेज चक्रवाती तूफान अभी मुंबई से 280 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण पश्चिम क्षेत्र तक पहुंच चुका है। महाराष्ट्र के उत्तरी तट पर इसकी वजह से 50-60 से लेकर 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार तक दिनभर हवाएं चलेंगी। 12 और 13 जून को महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में समुद्र के किनारे हालात बिगड़ सकते हैं। समुद्र के बीचों पर खास ध्यान देने की जरूरत है। मछुआरों को चेतावनी जारी की जा चुकी है। तेज हवाओं की वजह से पेड़ गिरने की घटनाएं भी बढ़ सकती हैं।'  आगे पढ़ें

cyclonic-storm-winds-up-fast-further-heavy-rains-m

चक्रवाती तूफान वायु तेजी से बढ़ा रहा आगे, गुजरात के तटीय इलाकों में हो सकती है भारी बारिश

मौसम विज्ञान विभाग की तरफ से जारी बुलेटिन में कहा गया है कि चक्रवाती तूफान अभी गुजरात के पोरबंदर और महुवा के बीच वेरावल से 650 किलोमीटर दूर दक्षिण में बना है। इसके वेरावल और दीव के क्षेत्र के आसपास तट से टकराने की आशंका है। विभाग ने अगले 12 घंटे में इसके और मजबूत होने की आशंका भी जताई है। तटीय जिलों में बाढ़ का खतरा तूफान के प्रभाव से गुजरात के सौराष्ट्र और कच्छ के तटीय जिलों में भारी वर्षा होगी। समुद्र की लहरें एक से डेढ़ मीटर ऊंची उठ सकती हैं। कच्छ, द्वारका, पोरबंदर, जूनागढ़, दीव, गिर-सोमनाथ, अमरेली और भावनगर जिले के निचले तटीय क्षेत्रों में बाढ़ की आशंका है। गुजरात और दीव के तटवर्ती इलाकों में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) की 39 टीमें तैनात की गई हैं।  आगे पढ़ें

air-force-to-buy-spice-bombs-from-israeli-to-incre

वायुसेना अपनी ताकत बढ़ाने इजराइली से SPICE बम खरीदने किया करार

पुलवामा हमले के बाद 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में जैश ए मोहम्मद के आतंकी ठिकानों को ध्वस्त करने के लिए भी भारत ने इन SPICE बमों का ही इस्तेमाल किया था। स्पाइस बम एक सटीक निर्देशित बम होता है जो एक GPS गाइडेंस किट के साथ लगाया जाता है, जो हवा में गिरने वाले अनप्लग्ड बमों को सटीक रूप से लॉन्च करने के लिए होता है।  आगे पढ़ें

i-did-not-know-the-air-force-aircraft

अब तक पता नहीं चला वायुसेना के विमान का

वायुसेना ने कहा था कि जमीन पर तलाश कर रही टीमों से क्रैश की संभावित जगहों के बारे में कुछ रिपोर्ट मिली हैं। हेलिकॉप्टर इन लोकेशन पर भेजे गए हैं। लेकिन अभी तक विमान का मलबा नहीं दिखा है। वायुसेना के सूत्र ने न्यूज एजेंसी को बताया कि इसरो के सैटेलाइटों के जरिए भी विमान की तलाश की जा रही है। इनके जरिए अरुणाचल और असम के कुछ हिस्सों पर नजर रखी जा रही है। अभियान के दौरान बादल छाए हुए हैं।  आगे पढ़ें

12-million-people-killed-in-2017-due-to-air-pollut

भारत में वायु प्रदूषण की वजह से 2017 में हुई 12 लाख लोगों की मौत

इंस्टीट्यूट का कहना है कि भारत ने प्रदूषण से लड़ने के लिए बेहतरीन योजनाएं बनाई हैं। प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, नेशनल क्लीन एयर प्रोग्राम और बीएस-4 की सराहना करते हुए रिपोर्ट में कहा गया है कि ये योजनाएं सही तरीके से क्रियान्वित हुईं तो सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे। रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रदूषण की वजह से दक्षिण एशिया में जन्म लेने वाले बच्चों की आयु ढाई साल तक घट गई है  आगे पढ़ें

pak-20-aircrafts-were-in-preparation-for-attack-li

बालाकोट जैसे हमले की तैयारी में था पाक 20 विमान भेजे फिर भी नाकाम रहे मंसूबे

हैं। हालांकि, यह भारत द्वारा बालाकोट में इस्तेमाल किए गए स्पाइस बम की तरह टारगेट को भेदने वाला नहीं होता। ऐसे में कई बम अपने पहले टारगेट को मिस कर गए। एक और ठिकाने पर बम बरसाने की कोशिश को एक ऊंचे और बड़े पेड़ ने नाकाम कर दिया।  आगे पढ़ें

sam-pitrodas-statement-attacked-bjp-jaitley-says-i

सैम पित्रोदा के बयान पर हमलावर हुई भाजपा, जेटली बोले- आतंक के खिलाफ बैकफुट पर नहीं खेलेगा भारत

जेटली ने साफ कहा, 'भारत की सिक्यॉरिटी डॉक्ट्रिन अब बदल गई है। आतंकवाद की जहां से उत्पत्ति होती है, अब हम वहां हमला करते हैं। यह उन लोगों के बीच वैचारिक लड़ाई है जो हरसंभव कदमों का इस्तेमाल कर भारत की रक्षा करना चाहते हैं या जो बंधे हाथों से भारत के लिए लड़ना चाहते हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के करीबी सलाहकार पित्रोदा के बयान पर निशाना साधते हुए जेटली ने कहा, 'अगर गुरु (टीचर) की ऐसी सोच है तो कोई भी यह कल्पना कर सकता है कि उनके स्टूडेंट कैसे होंगे।'  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति