होम लोकसभा चुनाव
lok-sabha-elections-in-the-last-phase-voting-on-59

अंतिम चरण में पहुंचा लोकसभा चुनाव, 59 सीटों पर वोटिंग कल, रिजल्ट मोड में आए सियासी दल

आपको बता दें कि पिछले 24 घंटों में प्रचार वाला शोर भले ही न हो पर नेताओं की मुलाकातें जारी हैं। दरअसल, सातवें चरण का चुनाव प्रचार शुक्रवार शाम में ही समाप्त हो गया था। ऐसे में सियासी खेमों में समीकरण साधे जा रहे हैं। यह सब तब हो रहा है जब एक दिन बाद अभी 59 अहम सीटों पर मतदान होना बाकी है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सीट वाराणसी भी शामिल है।  आगे पढ़ें

polling-for-the-last-phase-tomorrow-pm-modi-in-man

आखिरी चरण के लिए मतदान कल, पीएम मोदी सहित कई दिग्गज मैदान में

चंडीगढ़ और सात राज्यों के लिए चुनाव प्रचार जहां आज खत्म हुआ, वहीं पश्चिम बंगाल में हिंसा की कई घटनाओं के मद्देनजर चुनाव आयोग ने गुरुवार को ही चुनाव प्रचार खत्म करने का आदेश दिया था। आखिरी चरण के लिए कुल 918 उम्मीदवार मैदान में हैं। चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमें प्रधानमंत्री मोदी भी मौजूद थे। हालांकि पत्रकारों के सवालों के जवाब अमित शाह ने ही दिए। बीजेपी की प्रेस कॉन्फ्रेंस के वक्त ही कांग्रेस मुख्यालय में राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने मीडिया को संबोधित किया। हालांकि, वह पीएम पद के उम्मीदवार पर कुछ भी बोलने से बचते दिखे।  आगे पढ़ें

lok-sabha-elections-2019-modi-organized-142-rallie

लोकसभा चुनाव 2019: मोदी ने किए 142 रैलियां और 4 रोड शो, राहुल ने 128 रैलियों को किया संबोधित

बात अगर क्षेत्रीय पार्टियों की करें तो उनका फोकस मुख्य तौर पर संबंधित गृह राज्यों पर रहा। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ उन कुछ मौजूदा मुख्यमंत्रियों में शुमार रहे, जिन्होंने अपने राज्य से बाहर भी प्रमुखता से प्रचार किया। 2 प्रमुख राष्ट्रीय पार्टियों- बीजेपी और कांग्रेस खासकर इनके नेताओं नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी की रैलियों से दोनों दलों की प्राथमिकताओं के बारे में आइडिया लगता है। इसमें पिछले चुनाव की तुलना में इस बार अलग रणनीति की भी झलक मिलती है।  आगे पढ़ें

bsp-supremo-told-pm-modi-for-punch-pm-modi

बसपा सुप्रीमों ने पीएम पद के लिए ठोकी ताल, पीएम मोदी को बताया अनफिट

मायावती ने एक बयान में कहा है कि 'जहां तक विकास का सवाल है, बहुजन समाज पार्टी ने यूपी में बदलाव कर दिखाया है। यूपी में हुए विकास कार्यों के आधार पर यह माना जा सकता है कि देश और लोगों के विकास के लिए बसपा राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेंद्र मोदी से ज्यादा फिट हैं।'  आगे पढ़ें

upa-chairperson-sonia-gandhi-held-a-meeting-to-con

यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने संभाला मोर्चा, विपक्ष को एक करने 23 मई को बुलाई बैठक

लोकसभा चुनाव के नतीजों के ऐलान में अब सिर्फ एक हफ्ते का समय बचा है। ऐसे में गैर-एनडीए दलों ने केंद्र में गठबंधन सरकार के गठन के संभावनाओं पर काम करना शुरू कर दिया है। कांग्रेस ने अब 21 मई के बजाय नतीजों वाले दिन यानी 23 को विपक्षी दलों की बैठक बुलाई है। इसके लिए खुद यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी सक्रिय हुईं हैं और विपक्षी नेताओं को बैठक के लिए न्योता भेज दिया है। विपक्ष में सोनिया की 'सर्वमान्य छवि' है और इसी के मद्देनजर विपक्षी एकता के लिए उन्हें आगे आना पड़ा है। बैठक के लिए यूपीए के मौजूदा और पूर्व घटक दलों के अलावा तीसरे मोर्चे का हिस्सा समझे जाने वाले राजनीतिक दलों और नेताओं को भी न्योता भेजा गया है। बताया जाता है कि खासकर सोनिया गांधी और कांग्रेस की इस पहल के पीछे पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की कार्यशैली मुख्य वजह मानी जाती है।  आगे पढ़ें

on-the-last-day-of-campaigning-modi-and-mamta-try-

चुनाव प्रचार के आखिरी दिन मोदी और ममता ने झोंकी ताकत, सभाओं और रोड शो के जरिए मतदाताओं को लुभाने की कोशिश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम ममता बनर्जी की आक्रामक रैलियों के बाद बंगाल में लोकसभा चुनाव के सातवें और आखिरी चरण के लिए चुनाव प्रचार थम गया। प्रचार के आखिरी दिन पीएम मोदी ने जहां राज्य में दो रैलियों को संबोधित किया, वहीं ममता बनर्जी ने कई सभाएं और एक रोडशो के जरिए मतदाताओं को साधने की कोशिश की। बता दें कि चुनाव आयोग ने बुधवार को राज्य में एक दिन पहले ही चुनाव प्रचार खत्म करने का फैसला किया था।  आगे पढ़ें

after-the-election-commissions-decision-bjp-and-tm

चुनाव आयोग के फैसले के बाद भाजपा और टीएमसी ने तय की कम समय में प्रचार की तैयारी

चुनाव आयोग ने बुधवार को जारी में आदेश में कहा कि पश्चिम बंगाल में 16 मई को रात दस बजे से हर तरह का प्रचार अभियान बंद हो जाएगा उपचुनाव आयुक्त चंद्रभूषण कुमार ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि देश के इतिहास में संभवत: यह पहला मौका है जब आयोग को चुनावी हिंसा के मद्देनजर किसी चुनाव में निर्धारित अवधि से पहले चुनाव प्रचार प्रतिबंधित करना पड़ा हो  आगे पढ़ें

1107-crores-ramesh-kumar-the-richest-candidate-con

1107 करोड़ की संपत्ति, रमेश कुमार सबसे अमीर उम्मीदवार, बिहार से निर्दलीय लड़ रहे चुनाव

सबसे अमीर उम्मीदवार शर्मा कहते हैं कि उनकी सीधी लड़ाई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके झूठे वादों से है। वह अपनी जीत को पक्का मानते हुए कहते हैं कि अगर सामने अमित शाह भी होंगे तो हार जाएंगे। अपनी रैलियों में मोदी पर हमला बोलते हुए वह कहते हैं, 'नोटबंदी से मोदी ने लोगों का पैसा उनसे छीन लिया। देशभर में क्राइम हो रहा है और ये लोग देश को लूटने में लगे हैं। मैं यह चुनाव मोदी जुमलेबाज के खिलाफ लड़ रहा हूं।'  आगे पढ़ें

digvijay-says-congress-leaders-are-headache-for-co

कांग्रेस के लिए सिरदर्द बन रहे कांग्रेसी नेताओं के बिगड़े बोल, अब दिग्गी ने भाजपा नेताओं को कहा नालायक

दिग्विजय सिंह यहीं नहीं रूके। सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर दिग्विजय सिंह ने फिर पीएम मोदी पर हमला बोला। उन्होंने कहा- वो कह रहे हैं हमने देश बचा लिया, देश बचा लिया। हमने सर्जिकल स्ट्राइक की। असली सर्जिकल स्ट्राइक इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान के दो टुकड़े करके की थी। बहरहाल दिग्विजय सिंह के बिगड़े बोल से कांग्रेस की परेशानी बढ़ सकती है। इससे पहले वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर द्वारा नीच कहे जाने पर खासा बवाल मचा था और ये सियासी मुद्दा बन गया था। अब नालायक जैसे शब्दों के प्रयोग से भाजपा को नया मुद्दा मिलेगा।  आगे पढ़ें

rahuls-tweet-is-the-political-stir-of-fast-said-vi

राहुल के ट्वीट ने तेज की सियासी हलचल, कहा- देश के लिए ठीक नहीं है हिंसा और नफरत

राहुल गांधी ने साफ तौर पर कुछ नहीं लिखा है, लेकिन इसे कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर से जोड़कर देखा जा रहा है। दरअसल, अय्यर ने 2017 में पीएम नरेंद्र मोदी के बारे में दिए गए अपने विवादित बयान 'नीच किस्म का आदमी' को सही ठहराते हुए अब एक लेख लिखा है। गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान अय्यर के दिए इस बयान पर काफी बवाल मचा था और बाद में कांग्रेस नेता को माफी मांगनी पड़ी थी। अब लेख से सफाई के बाद फिर से इसपर विवाद हो गया है।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10  ... Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति