होम राहुल गांधी
lok-sabha-elections-in-the-last-phase-voting-on-59

अंतिम चरण में पहुंचा लोकसभा चुनाव, 59 सीटों पर वोटिंग कल, रिजल्ट मोड में आए सियासी दल

आपको बता दें कि पिछले 24 घंटों में प्रचार वाला शोर भले ही न हो पर नेताओं की मुलाकातें जारी हैं। दरअसल, सातवें चरण का चुनाव प्रचार शुक्रवार शाम में ही समाप्त हो गया था। ऐसे में सियासी खेमों में समीकरण साधे जा रहे हैं। यह सब तब हो रहा है जब एक दिन बाद अभी 59 अहम सीटों पर मतदान होना बाकी है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सीट वाराणसी भी शामिल है।  आगे पढ़ें

lok-sabha-elections-2019-modi-organized-142-rallie

लोकसभा चुनाव 2019: मोदी ने किए 142 रैलियां और 4 रोड शो, राहुल ने 128 रैलियों को किया संबोधित

बात अगर क्षेत्रीय पार्टियों की करें तो उनका फोकस मुख्य तौर पर संबंधित गृह राज्यों पर रहा। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ उन कुछ मौजूदा मुख्यमंत्रियों में शुमार रहे, जिन्होंने अपने राज्य से बाहर भी प्रमुखता से प्रचार किया। 2 प्रमुख राष्ट्रीय पार्टियों- बीजेपी और कांग्रेस खासकर इनके नेताओं नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी की रैलियों से दोनों दलों की प्राथमिकताओं के बारे में आइडिया लगता है। इसमें पिछले चुनाव की तुलना में इस बार अलग रणनीति की भी झलक मिलती है।  आगे पढ़ें

rahul-gandhi-talks-about-calling-godse-a-patriot

गोडसे को देशभक्त कहे जाने को लेकर मचा सियासी बवाल, राहुल गांधी ने बोला हमला

कांग्रेस अध्यक्ष ने यह हमला साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के बाद गोडसे के समर्थन में कई भाजपा नेताओं के बयान सामने आने के पर किया है। हालांकि इस मामले में भाजपा के कड़े रुख और विवाद बढ़ने के बाद साध्वी प्रज्ञा सहित दूसरे नेताओं ने भी माफी मांग ली है। इसके बावजूद कांग्रेस इस मामले को सियासी रंग देने में जुटी है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी इसे लेकर भाजपा और पीएम मोदी पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने भारत के स्वतंत्रता सेनानियों और इतिहास पुरुषों के खिलाफ छद्म युद्ध छेड़ रखा है। वह बार-बार महापुरुषों को अपमानित करने में जुटी हुई है।  आगे पढ़ें

rahuls-attack-on-modi-from-punjab-said-now-the-cou

पंजाब से मोदी पर राहुल का हमला, कहा- मनमोहन का मजाक उड़ाने वालों का अब देश उड़ा रहा मजाक

राहुल ने कहा, 'मैं उस घटना को भी याद कर रहा था, जब धर्म ग्रंथ का अपमान का मामला सामने आया था। उस वक्त मैं यहां आया था। मैं वादा करता हूं कि जिन्होंने यह गलत काम किया, उन्हें सजा जरूर दी जाएगी।' बता दें कि कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी मंगलवार को धर्मग्रंथ की बेअदबी के मामले पर बीजेपी की सहयोगी शिरोमणि अकाली दल पर हमला बोला था। मोदी पर हमला बोलते हुए राहुल गांधी ने कहा, 'पीएम मोदी को लगता है कि एक व्यक्ति देश चला सकता है, लेकिन वास्तव में यहां के लोग देश चला रहे हैं।'  आगे पढ़ें

rahuls-tweet-is-the-political-stir-of-fast-said-vi

राहुल के ट्वीट ने तेज की सियासी हलचल, कहा- देश के लिए ठीक नहीं है हिंसा और नफरत

राहुल गांधी ने साफ तौर पर कुछ नहीं लिखा है, लेकिन इसे कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर से जोड़कर देखा जा रहा है। दरअसल, अय्यर ने 2017 में पीएम नरेंद्र मोदी के बारे में दिए गए अपने विवादित बयान 'नीच किस्म का आदमी' को सही ठहराते हुए अब एक लेख लिखा है। गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान अय्यर के दिए इस बयान पर काफी बवाल मचा था और बाद में कांग्रेस नेता को माफी मांगनी पड़ी थी। अब लेख से सफाई के बाद फिर से इसपर विवाद हो गया है।  आगे पढ़ें

congress-president-will-not-come-for-promotion-now

कांग्रेस अध्यक्ष प्रचार के लिए अब नहीं आएंगे इंदौर, प्रियंका के रोड शो के बाद कार्यक्रम किया रद्द

शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल के अनुसार क्योंकि प्रियंका इंदौर आ गई हैं, इसलिए अब राहुल इंदौर में प्रचार करने नहीं आएंगे। असल में दोनों की पूरे देश की सभी लोकसभा सीटों से प्रचार के लिए मांग हो रही है। एक ही शहर में दोनों स्टार प्रचारक समय नहीं देते हैं, यह नीति तय है। 16 मई को भी उनकी सभा की बात चली थी लेकिन ऐसा आयोजन नहीं है। 16 मई को मुख्यमंत्री कमलनाथ इंदौर आ रहे हैं। वे सांवेर में जनसभा को संबोधित करेंगे। इसके बाद शाम को इंदौर के ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में एक आयोजन होगा। इसमें शहर के प्रबुद्धजन, कारोबारी, सीए, प्रोफेशनल्स व विभिन्न समाजों के प्रतिनिधि मौजूद रहेंगे। मुख्यमंत्री सभी से सीधी चर्चा करेंगे। चुनाव को लेकर भी बात होगी। 15 मई को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भी इंदौर आ रहे हैं।  आगे पढ़ें

rahul-in-neemuch-said-that-the-debt-of-his-brother

नीमच में राहुल ने कहा शिवराज के भाई का भी कर्जा माफ किया कांग्रेस ने

चुनाव के आखरी दौर मे राजनैतिक दलों की निगाहें मालवा-निमाड़ की आठ सीटों पर आ टिकी हुई है। बीजेपी-कांग्रेस के दिग्गज लगातार तबाड़तोड़ दौरे कर रहे है। सोमवार को पीएम मोदी और कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने मप्र के दौरे पर रही और रोड़ शो किया। आज कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी कांग्रेस प्रत्याशी मीनाक्षी नटराजन के समर्थन में सभा करने नीमच पहुंचे और राहुल ने कर्जमाफी को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोला। राहुल गांधी ने कहा- शिवराज कहते हैं की मध्यप्रदेश में किसानों का कर्ज माफ नहीं हुआ लेकिन उनके दो रिश्तेदारों का कर्जमाफ हुआ।  आगे पढ़ें

today-rahul-gandhi-in-neemuch

आज राहुल गांधी नीमच में दशहरा मैदान में मीनाक्षी के समर्थन में करेंगे सभा

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी 14 मई को नीमच आ रहे हैं। वे करीब पौने दो घंटे नीमच में रहेंगे और सभा को संबोधित करेंगे। उनके साथ मुख्यमंत्री कमलनाथ भी रहेंगे। उनके आगमन को लेकर शहर में सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम किए गए हैं। एसपीजी की मॉनीटरिंग में करीब 750 से अधिक अधिकारी और कर्मचारी सुरक्षा में तैनात रहेंगे। सभा स्थल के समीप ही डॉ. राजेंद्र प्रसाद स्टेडियम में अस्थाई हेलीपेड बनाया गया है।  आगे पढ़ें

the-meaning-of-this-huge-turnout

इस भारी भरकम मतदान के मायने

तो क्या यह मान लें कि मध्यप्रदेश में हो रही यह बम्पर वोटिंग राज्य सरकार के खिलाफ विशेषत: किसानों के गुस्से का नतीजा है? या फिर यह कमलनाथ सरकार ने जैसा वो दावा कर रही है कि संकल्प पत्र के जिन वचनों को उसने पूरा कर दिया है यह उसके प्रति लोगों का समर्थन है। लोगों में आक्रोश तो दनादन हो रही बिजली कटौती को लेकर भी है। भोपाल में जहां पांच दशक बाद मतदान प्रतिशत ने साठ का आंकडा पार किया है, वहां तो माना जा सकता है कि दिग्विजय सिंह और हिंदू आतंकवाद की प्रतीक साध्वी प्रज्ञा ठाकुर एक विषय हो सकती हैं। लेकिन ध्यान देने वाली बात यह भी है कि भोपाल लोकसभा के भी ग्रामीण क्षेत्रों में मतदान ज्यादा बढ़ा है। खेती किसानी से ज्यादा वास्ता ग्रामीण आबादी का ही होता है।एकतरफा सोचना ठीक नहीं है। इसलिए यह तथ्य भी नहीं बिसराया जा सकता कि यह प्रतिशत मोदी सरकार के खिलाफ जनादेश वाला मामला भी हो सकता है। अनेकानेक मोर्चों पर यह सरकार भी असफल रही है। लेकिन मोदी की प्रति नाराजगी या समर्थन तो देश भर में एक जैसा ही होता, इसमें मध्यप्रदेश क्यों अलग जाता दिख रहा है? दिमाग पर बहुत अधिक जोर डालने के बावजूूद मामला नाथ या गांधी के बराबरी वाली नाराजगी का प्रतीत नहीं हो पाता। मध्यप्रदेश के संदर्भ में इसकी एक वजह नजर आती है। यहां पंद्रह साल बाद बनी कांग्रेस की सरकार से भाजपा-विरोधियों की अपेक्षाएं अनंत तक पहुंच गयी थीं। खासतौर पर दस दिन में कर्ज माफी की बात ने जनमत को सर्वाधिक प्रभावित किया था। read more  आगे पढ़ें

congress-will-win-eight-seats-in-last-phase-rahul-

अंतिम चरण में आठ सीटों पर कांग्रेस झोंकेगी ताकत, राहुल और प्रियंका की होंगी सभाएं

प्रदेश में अंतिम चरण का मतदान देवास, उज्जैन, मंदसौर, रतलाम, इंदौर, धार, खरगोन और खंडवा में 19 मई को होने वाला है। इनमें से देवास और उज्जैन अनुसूचित जाति की सीटें हैं तो खरगोन, धार व रतलाम अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। पार्टी ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के इन बची हुई सीटों पर कार्यक्रम तय कर दिए हैं। सोमवार (13 मई) को प्रियंका गांधी इंदौर पहुंचेंगी और रतलाम लोकसभा सीट पर सभा को संबोधित करेंगी। शाम को वे इंदौर में रोड शो करेंगी।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10  ... Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति