होम मध्यप्रदेश
the-state-of-the-heat-wave-the-leader-of-the-oppos

गरमाई प्रदेश की सियासत, नेता प्रतिपक्ष ने विस का विशेष सत्र बुलाने की मांग, सीएम ने कहा हमें कोई दिक्कत नहीं

सोमवार को भार्गव ने पत्र भेजकर राज्यपाल से आग्रह किया कि वे विशेषाधिकार का उपयोग कर शीघ्र ही विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने के निर्देश मुख्यमंत्री कमलनाथ को दें। उन्होंने पत्र में कहा कि नई सरकार का गठन हुए छह माह बीत चुके हैं। इस दौरान कई जनहित की समस्याओं और मुद्दों से जनता जूझ रही है। इन मुद्दों पर विधानसभा में चर्चा होना जरूरी है। सरकार ने गठन के बाद मात्र दो दिन का सत्र 18 फरवरी को बुलाया था, जिसमें लोकहित के मुद्दों पर बहस नहीं हो पाई थी।  आगे पढ़ें

shivraj-laughs-at-diggji-in-election-meeting-said-

चुनावी सभा में शिवराज ने दिग्गी पर कसा तंज, कहा- हिन्दू विरोधी का भोपाल में होगा बंटाधार

भगवा को आतंकवाद कहने वाले हिंदू विरोधी दिग्विजय सिंह का बंटाधार भोपाल में जल्द ही होने जा रहा है। यह बात पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खंडवा लोकसभा के ग्राम आभापुरी में चुनावी सभा में कही। उन्होंने सिंह पर कटाक्ष करते हुए उन्हें देश का सबसे बड़ा दलाल बताया और आतंकवादियों को संरक्षण देने का आरोप भी लगाया।  आगे पढ़ें

rahul-in-neemuch-said-that-the-debt-of-his-brother

नीमच में राहुल ने कहा शिवराज के भाई का भी कर्जा माफ किया कांग्रेस ने

चुनाव के आखरी दौर मे राजनैतिक दलों की निगाहें मालवा-निमाड़ की आठ सीटों पर आ टिकी हुई है। बीजेपी-कांग्रेस के दिग्गज लगातार तबाड़तोड़ दौरे कर रहे है। सोमवार को पीएम मोदी और कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने मप्र के दौरे पर रही और रोड़ शो किया। आज कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी कांग्रेस प्रत्याशी मीनाक्षी नटराजन के समर्थन में सभा करने नीमच पहुंचे और राहुल ने कर्जमाफी को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोला। राहुल गांधी ने कहा- शिवराज कहते हैं की मध्यप्रदेश में किसानों का कर्ज माफ नहीं हुआ लेकिन उनके दो रिश्तेदारों का कर्जमाफ हुआ।  आगे पढ़ें

dhar-lok-sabha-seat-not-held-by-a-party-never-won-

धार लोकसभा सीट पर नहीं रहा एक दल का कब्जा, कभी भाजपा को कभी जीती कांग्रेस

धार लोकसभा सीट पर कभी कांग्रेस तो कभी बीजेपी का कब्जा होता रहा है। पिछले तीन चुनाव के नतीजों को देखें तो यहां की जनता ने किसी एक पार्टी को लगातार दूसरी बार नहीं चुना है। कभी ये कांग्रेस का गढ़ हुआ करती थी लेकिन बीजेपी ने धीरे-धीरे धार में अपनी धार को पैना किया। इस वक्त धार पर बीजेपी का कब्जा है। साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी की सावित्री ठाकुर ने कांग्रेस के उमंग सिंघर को हराया था। 40 साल की सावित्री ठाकुर 2004 से 2009 के बीच जिला पंचायत की अध्यक्ष रह चुकी हैं।  आगे पढ़ें

priyankas-road-show-in-indore-modi-modi-slogan-ruk

चुनाव प्रचार करने इंदौर पहुंची प्रियंका के रोड शो में लगे मोदी-मोदी के नारे, रुकवाई कार

दरअसल, इंदौर में रोड शो से पहले रास्ते में उनके काफिले को देखकर कुछ लोग जिनमें महिलाएं भी शामिल थीं, मोदी-मोदी के नारे लगा रहे थे। इसे देख प्रियंका ने अपनी कार अचानक रुकवाई और उन लोगों से हाथ मिलाया और उन्हें कहा कि 'आप अपनी जगह, मैं मेरी जगह 'आल दी बेस्ट'। प्रियंका गांधी के इस वीडियो की सोशल मीडिया पर जबरदस्त चर्चा हो रही है।  आगे पढ़ें

today-rahul-gandhi-in-neemuch

आज राहुल गांधी नीमच में दशहरा मैदान में मीनाक्षी के समर्थन में करेंगे सभा

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी 14 मई को नीमच आ रहे हैं। वे करीब पौने दो घंटे नीमच में रहेंगे और सभा को संबोधित करेंगे। उनके साथ मुख्यमंत्री कमलनाथ भी रहेंगे। उनके आगमन को लेकर शहर में सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम किए गए हैं। एसपीजी की मॉनीटरिंग में करीब 750 से अधिक अधिकारी और कर्मचारी सुरक्षा में तैनात रहेंगे। सभा स्थल के समीप ही डॉ. राजेंद्र प्रसाद स्टेडियम में अस्थाई हेलीपेड बनाया गया है।  आगे पढ़ें

the-meaning-of-this-huge-turnout

इस भारी भरकम मतदान के मायने

तो क्या यह मान लें कि मध्यप्रदेश में हो रही यह बम्पर वोटिंग राज्य सरकार के खिलाफ विशेषत: किसानों के गुस्से का नतीजा है? या फिर यह कमलनाथ सरकार ने जैसा वो दावा कर रही है कि संकल्प पत्र के जिन वचनों को उसने पूरा कर दिया है यह उसके प्रति लोगों का समर्थन है। लोगों में आक्रोश तो दनादन हो रही बिजली कटौती को लेकर भी है। भोपाल में जहां पांच दशक बाद मतदान प्रतिशत ने साठ का आंकडा पार किया है, वहां तो माना जा सकता है कि दिग्विजय सिंह और हिंदू आतंकवाद की प्रतीक साध्वी प्रज्ञा ठाकुर एक विषय हो सकती हैं। लेकिन ध्यान देने वाली बात यह भी है कि भोपाल लोकसभा के भी ग्रामीण क्षेत्रों में मतदान ज्यादा बढ़ा है। खेती किसानी से ज्यादा वास्ता ग्रामीण आबादी का ही होता है।एकतरफा सोचना ठीक नहीं है। इसलिए यह तथ्य भी नहीं बिसराया जा सकता कि यह प्रतिशत मोदी सरकार के खिलाफ जनादेश वाला मामला भी हो सकता है। अनेकानेक मोर्चों पर यह सरकार भी असफल रही है। लेकिन मोदी की प्रति नाराजगी या समर्थन तो देश भर में एक जैसा ही होता, इसमें मध्यप्रदेश क्यों अलग जाता दिख रहा है? दिमाग पर बहुत अधिक जोर डालने के बावजूूद मामला नाथ या गांधी के बराबरी वाली नाराजगी का प्रतीत नहीं हो पाता। मध्यप्रदेश के संदर्भ में इसकी एक वजह नजर आती है। यहां पंद्रह साल बाद बनी कांग्रेस की सरकार से भाजपा-विरोधियों की अपेक्षाएं अनंत तक पहुंच गयी थीं। खासतौर पर दस दिन में कर्ज माफी की बात ने जनमत को सर्वाधिक प्रभावित किया था। read more  आगे पढ़ें

after-the-two-phase-elections-in-madhya-pradesh-el

मध्यप्रदेश में दो चरण का चुनाव होने के बाद चुनाव आयोग ने शुरू की मतगणना की तैयारी

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारियों ने बताया कि आयोग की टीम ने जबलपुर, कटनी, सिवनी और राजगढ़ जाकर समीक्षा की। जबलपुर, कटनी और सिवनी में चुनाव हो चुके हैं। यहां कलेक्टरों के साथ मतगणना केंद्र पर टेबलों की व्यवस्था, वीडियो रिकॉर्डिंग, स्ट्रांग रूम में रखी मशीनों और सुरक्षा के इंतजामों पर बात की गई। इसी तरह राजगढ़ लोकसभा का चुनाव 12 मई रविवार को होना है।  आगे पढ़ें

bjp-nominees-win-over-dozen-seats-lessons-learned-

भाजपा प्रत्याशियों को जिताने संघ ने दर्जन सीटों पर झोंकी ताकत, विस चुनाव से लिया सबक

संघ ने अपने आनुषांगिक संगठनों के भरोसेमंद पदाधिकारियों को भी निगरानी और फीडबैक के लिए चुनाव मैदान में भेजा है। भाजपा एवं संघ से जुड़े सूत्रों का दावा है कि मौजूदा चुनावों में जिस तरह आरएसएस और हिंदुत्व के मुद्दे पर निशाना साधा जा रहा है उसकी प्रतिक्रियास्वरूप यह तैयारी की गई है। संघ ने इसे आर-पार की लड़ाई के रूप में लिया है। यही वजह है कि संघ ने सभी सीटों पर मतदान का प्रतिशत बढ़ाने के लिए विशेष मुहिम शुरू की है। इस मुद्दे पर प्रतिनिधि सभा में संघ प्रमुख डॉ. मोहन भागवत ने खासतौर पर निर्देश दिए थे। संघ का सोच और आकलन है कि मतदान प्रतिशत बढ़ने से लोकतंत्र मजबूत होगा और परोक्ष रूप से इसका सीधा फायदा भाजपा प्रत्याशी को ही मिलेगा।  आगे पढ़ें

congress-will-be-ready-for-remaining-seats-remaini

प्रदेश में शेष बची सीटों पर कांग्रेस झोकेंगी ताकत, प्रचार के लिए बड़े नेताओं को बुलाने की तैयारी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के दौरे लगातार बन रहे हैं। पहले आठ और नौ मई को उनकी ग्वालियर-चंबल क्षेत्र की तीन लोकसभा सीटों मुरैना, भिंड व ग्वालियर सहित बुंदेलखंड की सागर लोकसभा सीट के बीना में चार सभाएं थीं और 11 मई को एक दिन का और कार्यक्रम फाइनल हो गया है। एक दिन में वे शुजालपुर, सरदारपुर (धार) और खरगोन में तीन सभाएं लेंगे। मंदसौर में राहुल गांधी या प्रियंका वाड्रा का चुनावी दौरा होने की संभावना है।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10  ... Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति