होम मध्य प्रदेश
pm-modi-to-launch-mission-2019-on-february-15-16-o

मिशन 2019 का आगाज करने पीएम मोदी 15-16 फरवरी को मध्यप्रदेश के दौरे पर

बीजेपी ने लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी की उन इलाकों में सभाएं कराने का प्लान बनाया है जहां विधानसभा चुनाव में सभा नही हुई थीं। होशंगाबाद में पीएम की रैली की एक वजह ये भी है कि कमलनाथ के गढ़ बैतूल-छिंदवाड़ा बेल्ट से लगे इस इलाके में बीजेपी आक्रामक होना चाहती है। इटारसी भौगोलिक नजरिए से 6 संसदीय क्षेत्रों के साथ रेल रुट के लिए भी सेंटर प्वाइंट है। इस क्षेत्र की 20 विधानसभा सीटों में से 13 पर बीजेपी का कब्जा है। जिन विधानसभा क्षेत्रों में बीजेपी का कब्जा है उनमें बुधनी, खातेगांव, हरदा, हरसूद, भोजपुर, होशंगाबाद, सिवनी मालवा, घोड़ाडोंगरी, टिमरनी, बैतूल, भैंसदेही, सिलवानी, उदयपुरा, तेंदूखेड़ा, गाडरवाड़ा, पिपरिया, सोहागपुर, आमला, मुलताई शामिल हैं। पीएम मोदी के बाद पार्टी अध्यक्ष अमित शाह का 19 फरवरी को मध्यप्रदेश आने का कार्यक्रम है। उनका रविदास जयंती पर सागर में सभा और कार्यकर्ता सम्मेलन है। शाह का पहले 10 फरवरी को दौरा था, लेकिन बाद में कैंसिल हो गया था।  आगे पढ़ें

pm-modi-will-be-auctioned-on-shivraj-gift-and-souv

पीएम मोदी की राह पर शिवराज, गिफ्ट और स्मृति चिन्ह करेंगे नीलाम

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अब उपहार बेचकर जनसेवा करेंगे। सोशल मीडिया में लिखी मन की बात में शिवराज सिंह चौहान ने अपनी ये इच्छा जाहिर की है। उन्होंने लिखा है कि, उन्हें अब तक जो भी गिफ्ट और मोमेंटो मिले हैं उन्हें वो नीलाम करना चाहते हैं। नीलामी से जो पैसा मिलेगा, उससे वो जनसेवा करेंगे।  आगे पढ़ें

gopal-bhargav-ne-apane-sabhi-vidhayakon-ko-likha-p

गोपाल भार्गव ने अपने सभी विधायकों को लिखा पत्र, कहा- कोई भी परेशान करें तो हमें बताएं

नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने अब सभी भाजपा विधायकों के नाम पत्र लिखा है कि कार्यकर्ताओं को कोई अफसर प्रताड़ित करे तो मुझे बताएं। पत्र में उन्होंने विधायकों को लिखा कि विधानसभा सत्र में अपने क्षेत्र की समस्याओं को सदन में उठाएं। गोपाल भार्गव ने विधायकों को लिखा कि क्षेत्र की कानून व्यवस्था, शिक्षा स्वास्थ्य और अवैध खनन, किसानों के मुद्दे की भी जानकारी दें। दरअसल, कमलनाथ सरकार पिछले कई दिनों से ताबड़तोड़ तबादले कर रही है। इसी को लेकर वह विपक्ष के निशाने पर है।  आगे पढ़ें

naths-minister-who-spoke-on-transfers-said-the-gov

तबादलों पर बोले नाथ के मंत्री, कहा- सरकार बदलती है तो अधिकारी भी बदलते हैं

कमलनाथ सरकार में वित्त मंत्री तरुण भनोट का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि सरकार बदलती है तो अधिकारी भी बदलते हैं। ऐसा पहली बार किसी राज्य में नही हो रहा है। बीजेपी शासनकाल मे भी अधिकारियों के तबादले होते थे। उन्होंने कहा कि सरकार में कोई सुपर पावर नहीं है। सीएम कमलनाथ 9 बार लगातार सांसद रहे हैं उन्हें किसी सुपर पावर की जरूरत नही है।  आगे पढ़ें

shivraj-spoke-on-nath-attack-said-bjp-is-not-a-ras

शिवराज ने नाथ पर बोला हमला: कहा- भाजपा कोई रसगुल्ला नहीं

शिवराज ने प्रदेश में लगातार हो रहे पुलिस अफसरों के तबादलों पर भी कमलनाथ सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि बार-बार के तबादलों से अफसरों का मनोबल गिरता है। तबादलों के जरिए अराजकता का माहौल बन रहा है। मुख्यमंत्री के नाम पर कोई सुपर पावर तबादलों में जुटा है। शिवराज ने यह भी कहा कि 15 दिन में अफसर को बदल देने से प्रशासनिक व्यवस्था पर बुरा असर पड़ता है। शिवराज सिंह चौहान ने यह भी कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री कमलनाथ से मिलने का समय मांगा है। वे किसानों के मुद्दे पर मुलाकात कर अपनी बात रखेंगे। और प्रदेश में धान खरीदी में किसानों की शिकायतों की जानकारी देंगे। शिवराज ने किसान कर्ज माफी के मामले में कांग्रेस सरकार से स्पष्ट नीति बनाने की मांग की है। और 10 दिन में कर्ज माफी के ऐलान पर अमल नहीं होने पर सवाल उठाए हैं।  आगे पढ़ें

kisan-abhar-sammelan-mein-cm-nath-ne-diya-45-ka-hi

किसान आभार सम्मेलन में सीएम नाथ ने दिया 45 का हिसाब, मोदी पर साधा निशाना

कमलनाथ ने 45 दिन का हिसाब देते हुए कहा कि जब मैंने पदभार संभाला तो यहां बीजेपी तिजोरी खाली कर चुकी थी। बीजेपी ने प्रदेश की व्यवस्था चौपट करके रखी थी। हमने लक्ष्य बनाया कि सबसे पहले हम अपने कृषि क्षेत्र को जीवित करें। कमलनाथ ने सभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि देश के नौजवानों ने आपका चेहरा पहचान लिया है। आप संभल जाइए। अब नारों से काम नहीं चलेगा। विज्ञापनों से काम नहीं चलेगा। अब नौजवान ही इस देश का निर्माण करेगा।  आगे पढ़ें

lokasabha-chunav-ke-lie-bjp-congress-ki-jor-ajamai

लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा-कांग्रेस की जोर आजमाइश शुरू, 29 सीटों के लिए कसरत हुई तेज

दावे तो दोनों पार्टियों के बड़े-बड़े हैं लेकिन हकीकत ये है कि दोनों ही पार्टियों के लिए 19 के अखाड़े में कई सीटें ऐसी हैं जहां मुश्किल हो सकती है। 19 के अखाड़े में मध्य प्रदेश की 29 सीटों के लिए सियासी पार्टियों की कसरत तेज हो गई है। 19 की तैयारी 18 के नतीजों को ध्यान में रखकर की जा रही है। विधान सभा चुनाव के नतीजों को आधार बनाएं तो बीजेपी के लिए 9 सीटें जबकि कांग्रेस के लिए एक दर्जन सीटों पर खतरा बरकरार है। हालांकि बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही फिलहाल अपने पत्ते खोलने के लिए तैयार नहीं हैं।  आगे पढ़ें

lokasabha-chunav-se-pahale-pradesh-mein-sakriy-hua

लोकसभा चुनाव से पहले प्रदेश में सक्रिय हुआ संघ, भैयाजी जोशी ने ली पदाधिकारियों की बैठक

लोकसभा चुनाव सामने हैं लिहाजा संघ एक बार फिर सक्रियता बढ़ा रहा है। पिछले दिनों हार के कारणों की समीक्षा में जुटी संघ ने बीजेपी को नसीहत दी थी। संघ की मानें तो बीजेपी को अगर आने वाले चुनाव जीतने हैं तो नेगेटिव कैंपेनिंग से बचना होगा। संघ की रिपोर्ट के मुताबिक चुनाव के दौरान 'माफ करो महाराज' जैसे विज्ञापनों की वजह से पार्टी को नुकसान उठाना पड़ा। संघ ने अपनी रिपोर्ट में ये भी पाया है कि बीजेपी की व्यक्ति आधारित कैंपेनिंग का पार्टी को नुकसान हुआ। हालांकि कांग्रेस की मानें तो बीजेपी ने विकास के बजाए इवेंट मैनेजमेंट पर ज्यादा ध्यान दिया। जिस वजह से उनकी हार हुई।  आगे पढ़ें

mp-modi-sahab-ka-dhyan-rakhana-kahakar-vivadon-mei

मप्र: मोदी साहब का ध्यान रखना कहकर विवादों में आर्इं राज्यपाल, कांग्रेस ने की इस्तीफे की मांग

गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने कहा, 'मोदी साहब का ध्यान रखना।' राज्यपाल का यह विडियो अब सोशल मीडिया में वायरल हो गया है। उधर, कांग्रेस पार्टी ने राज्यपाल से इस्तीफे की मांग की है। कांग्रेस की मीडिया प्रभारी शोभा ओझा ने कहा, 'वह एक संवैधानिक पोस्ट पर हैं और उन्हें ऐसे बयान नहीं देने चाहिए। यदि वह बीजेपी कार्यकर्ता के रूप में काम करना चाहती हैं तो उन्हें इस्तीफा देकर लोकसभा चुनाव लड़ना चाहिए।'  आगे पढ़ें

madhy-pradesh-high-court-ne-najul-bhumi-ghoshit-ka

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने नजूल भूमि घोषित करने पर लगाई रोक

न्यायमूर्ति नंदिता दुबे की एकलपीठ के समक्ष मामले की सुनवाई हुई।इस दौरान याचिकाकर्ता मुलताई बैतूल निवासी पुनियाबाई मेहरा की ओर से अधिवक्ता मोहनलाल शर्मा ने पक्ष रखा। उन्होंने दलील दी कि 28 फरवरी 2017 व 13 अगस्त 2017 के दो आदेशों के जरिए याचिकाकर्ता की सेवाभूमि को नजूल भूमि घोषित करने की तैयारी कर ली गई  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 4 5 6 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति