होम मतदान
despite-the-fierce-heat-in-madhya-pradesh-record-b

मध्यप्रदेश में भीषण गर्मी के बावजूद आखिरी चरण में आठ सीटों पर रिकार्ड तोड़ मतदान

मतदान के दौरान रतलाम के सैलाना विधानसभा की चंदोरा निवासी 58 वर्षीय गेंद बाई का मतदान की लाइन में खड़े रहने के दौरान हार्टअटैक से निधन हो गया। वहीं, शाजापुर में पीठासीन अधिकारी अनिल नेमा और कुक्षी में बीएलओ गारू सिंह चोगड़ की भी हार्टअटैक से मौत हो गई। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने बताया कि अभी तक 75 फीसदी मतदान हो चुका है। मतदान प्रतिशत में वृद्धि होगी। मतदान की जो गति शुरूआत में रही, वह दोपहर में कुछ धीमी पड़ी, लेकिन शाम होते-होते इसमें तेजी आ गई। मतदान के दौरान कहीं से भी हिंसक घटना की सूचना नहीं मिली। छह-सात जगह चुनाव बहिष्कार की सूचनाएं थीं। प्रशासनिक अमले ने मतदाताओं को मताधिकार का इस्तेमाल करने की समझाइश दी, इसके बाद मतदान हुआ।  आगे पढ़ें

air-car-made-for-polling-booths-red-carpet-set-for

इंदौर में भीषण गर्मी से निपटने मतदान केन्द्र को बनाया वातानुकूलि, मतदाताओं लिए बिछाया रेड कारपेट

मतदान कक्ष के साथ ही पूरा केंद्र वातानुकूलित बनाया गया है। मतदान के समय लोगों को आधे घंटे से एक घंटे लाइन में खड़े रहना पड़ता है। इससे निजात दिलाने के लिए यहां 100 से अधिक कुर्सी लगाई गई है। पूरे बूथ को स्लोगन व रंगीन गुब्बारों से सजाया गया है। दृष्टिहीन मतदाताओं को असुविधा न हो इसके लिए सारे निर्देश ब्रेन लिपि में लिख कर हर एक टेबल पर लगाए गए हैं।  आगे पढ़ें

before-the-last-phase-the-matter-of-stone-cutting-

आखिरी चरण के पहले गरमाई बंगाल की सियासत, अमित शाह के रोड शो में पत्थरबाजी का मामला पहुंचा चुनाव आयोग

कॉलेज में ममता बनर्जी ने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। उन्होंने कहा, 'बीजेपी हताश हो चुकी है। वे हमारी महान विभूतियों का भी सम्मान नहीं करते हैं। वे विद्यासागर की प्रतिमा को कैसे तोड़ सकते हैं? हम इसके खिलाफ एक विरोध रैली करेंगे।' बीजेपी पर हमला करते हुए उट ने आरोप लगाया कि वह (बीजेपी) बंगाल के बाहर से गुंडों को ला रही है। इससे पहले शाम में एक रैली में उन्होंने कहा कि बीजेपी के खिलाफ हर एक वोट विद्यासागर की प्रतिमा पर हमले का बदला होगा।  आगे पढ़ें

on-the-pleasure-of-the-officers-the-evm-has-done-i

अफसरों की खुशी पर ईवीएम ने किया कुठाराधात, दो बूथों में 50-50 वोट बढ़ने से श्योपुर से लेकर भोपाल तक हड़कंप

दरअसल यह गड़बड़ी पीठासीन अधिकारी और निर्वाचन ड्यूटी में तैनात कर्मचारियों की लापरवाही के कारण हुई है। मतदान सुबह 7 बजे से शुरू हुआ था, लेकिन इससे एक घंटे पहले यानी सुबह 6 बजे से हर पोलिंग बूथ पर मॉकपोल हुआ था। मॉकपोल में हर ईवीएम से 50-50 वोट डाले गए। बाद में जब मतदान शुरू हुआ तो मॉकपोल के वोट सीएलआर बटन दबाकर डिलीट करने थे, लेकिन श्योपुर व पांडोला के बूथ पर मॉकपोल के बाद सीएलआर बटन नहीं दबाई। इस कारण मॉकपोल के 50 वोट ईवीएम से नहीं हटे और मतगणना शुरू होने के बाद मॉकपोल के 50 वोट अन्य मतदान में मिल गए।  आगे पढ़ें

false-staff-after-stirring-forgot-to-pick-up-lugga

श्योपुर में पोलिंग बूथ से सामान उठाना भूले कर्मचारी, हड़कंप मचने के बाद एफआईआर

जानकारी के अनुसार मतदान कराने के लिए तैनात की गई टीम के साथ मतदान सामग्री भी दी जाती है। इसमें पीठासीन अधिकारी की डायरी, मतपत्र लेखा से लेकर अन्य सामान होता है। पूरा सामान वापस भी करना होता है। सहसराम बूथ पर तैनात कर्मचारी रविवार शाम 06.30 बजे के करीब मतदान खत्म कराने के बाद इतनी जल्दबाजी में थे, कि सिर्फ ईवीएम, वीवीपैट के सेट को पैक कर लौट आए। रात में ही मतदानकर्मियों को सहसराम भेजा गया, लेकिन वहां कुछ नहीं मिला। इसके बाद अफसरों में हडकंप मच गया। तत्काल इसकी सूचना सामान्य प्रेक्षक से लेकर भोपाल निर्वाचन तक के अफसरों को दी गई।  आगे पढ़ें

twitter-omission-from-robert-vadra-triangle-replac

राबर्ट वाड्रा से ट्विटर पर हुई चूक, तिरंगे की जगह पराग्वे का झंटा किया पोस्ट

बता दें कि प्रियंका गांधी वाड्रा ने वोट डालने के बाद प्रियंका गांधी ने कहा कि यह चुनाव महत्वपूर्ण है क्योंकि वह देश का लोकतंत्र बचाने के लिए लड़ रही हैं। प्रियंका गांधी ने कहा कि वह अपनी जीत के प्रति आश्वस्त हैं। प्रियंका गांधी ने कहा, 'जनता में आक्रोश है और वर्तमान सरकार से त्रस्त है। मुझे पता है कि बाजेपी सरकार जा रही है।' प्रियंका गांदी ने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि पीएम किसी बात का जवाब नहीं देते हैं। वह इधर-उधर की बातें करते हैं। 15 लाख रुपये, दो करोड़ रोजगार पर उन्हें जवाब देना चाहिए और राहुल गांधी की चुनौती स्वीकार करनी चाहिए।  आगे पढ़ें

congress-will-be-ready-for-remaining-seats-remaini

प्रदेश में शेष बची सीटों पर कांग्रेस झोकेंगी ताकत, प्रचार के लिए बड़े नेताओं को बुलाने की तैयारी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के दौरे लगातार बन रहे हैं। पहले आठ और नौ मई को उनकी ग्वालियर-चंबल क्षेत्र की तीन लोकसभा सीटों मुरैना, भिंड व ग्वालियर सहित बुंदेलखंड की सागर लोकसभा सीट के बीना में चार सभाएं थीं और 11 मई को एक दिन का और कार्यक्रम फाइनल हो गया है। एक दिन में वे शुजालपुर, सरदारपुर (धार) और खरगोन में तीन सभाएं लेंगे। मंदसौर में राहुल गांधी या प्रियंका वाड्रा का चुनावी दौरा होने की संभावना है।  आगे पढ़ें

lok-sabha-elections-more-than-70-percent-voting-in

लोकसभा चुनाव: मप्र की सात सीटों पर 70 फीसदी से ज्यादा मतदान

सभी संसदीय सीटों पर शाम छह बजे तक भी बहुत से मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की कतारें लगी रहीं। शाम छह बजे तक बैतूल लोकसभा क्षेत्र में करीब 74 फीसदी, टीकमगढ़ और दमोह में 62, खजुराहो और सतना में 61, रीवा में 55 और होशंगाबाद में करीब 69 फीसदी मतदान दर्ज हुआ है। सातों संसदीय सीटों पर सुबह से मतदान के दौरान कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है।  आगे पढ़ें

6256-percent-polling-in-fifth-phase-violence-in-be

पांचवें चरण में 62.56 फीसदी मतदान, बंगाल में हिंसा, पुलवामा में बूथ पर ग्रेनेड से हमला

लोकसभा चुनाव 2019 के पांचवें चरण में 16 जिलों की 14 लोकसभा सीट के लिए आज मतदान सम्पन्न हो गया। सुबह सात से शाम छह बजे तक चले मतदान के बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह, संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को अब परिणाम का 23 मई तक इंतजार करना होगा। पहले भी कई बार ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत लेकर चुनाव आयोग तक पहुंची सपा ने एक बार फिर शिकायत की है। गड़बड़ी और प्रशासन के रवैये के खिलाफ सपा ने प्रदेश के मुख्य चुनाव अधिकारी से शिकायत दर्ज करने की मांग की है।  आगे पढ़ें

the-election-commission-has-rejected-the-demand-of

याचिकाकर्ता की मांग को चुनाव आयोग ने ठुकराया, कहा- रामजान के दौरान मतदान के समय में नहीं होगा बदलाव

सुप्रीम कोर्ट में इस संबंध में अधिवक्ता मोहम्मद निजामुद्दीन पाशा और असद हयात ने याचिका दायर की थी। इसके जरिए चुनाव के शेष चरणों में मतदान का समय सुबह सात बजे के बजाय दो से ढाई घंटे पहले, सुबह 4.30 या 5 बजे से करने का अनुरोध किया गया था। याचिका में कहा गया था कि चुनाव के इन शेष चरणों के दौरान देश के कई हिस्सों में लू चलने की परिस्थितियां मौजूद होंगी और रमजान का महीना भी रहेगा, इसलिए मतदान पहले शुरू कराया जाए।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 4 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति