होम भ्रष्टाचार
action-mein-aate-hee-riekshan-ke-shikaar-hue-varma

एक्शन में आते ही रिएक्शन के शिकार हुए वर्मा, सीबीआई चीफ पद से हुई छुट्टी

वर्मा की अनुपस्थिति में सीबीआइ निदेशक का कार्यभार संभालने वाले एम. नागेश्वर राव नए निदेशक की नियुक्ति तक कार्यवाहक निदेशक के रूप में काम संभालेंगे। 23/24 अक्टूबर की रात जबरन छुट्टी पर भेजे जाने को आलोक वर्मा ने इसी आधार पर चुनौती दी थी कि उन्हें हटाने का अधिकार सिर्फ चयन समिति को है।सरकार अपने स्तर पर यह फैसला नहीं ले सकती।  आगे पढ़ें

cbi-kes-raakesh-asthaana-kee-yaachika-par-aaj-aaeg

सीबीआई केस: राकेश अस्थाना की याचिका पर आज आएगा फैसला

न्यायमूर्ति नजमी वजीरी ने अलग-अलग याचिकाओं पर 20 दिसंबर को फैसला सुरक्षित रख लिया था। राकेश अस्थाना ने अपनी याचिका में कहा था कि तत्कालीन सीबीआइ निदेशक आलोक वर्मा ने उन पर जो केस दर्ज किया, उसमें कानूनी प्रक्रिया नहीं अपनाई गई, जबकि वर्मा ने इसके जवाब में हाई कोर्ट में कहा था कि सही प्रक्रिया के तहत केस दर्ज किया गया था।  आगे पढ़ें

kamalanaath-aur-shivaraaj-ka-antar

कमलनाथ और शिवराज का अंतर

मैं यह कह सकता हूं कि शिवराज सिंह चौहान से मेरी अच्छी पहचान और दोस्ती रही है। उन्हीं के कहे के मुताबिक मैं उन लोगों में से एक हूं जो शिवराज के दिल में रहता हैं। पर पिछले तेरह साल में मैं उनसे तेरह बार भी शायद ही मिला हूं। और जब मिला भी तो उन्हें चंद मिनटों बाद घड़ी की तरफ देखते पाया। मुख्यमंत्री के साथ ऐसा हो सकता है। यारी दोस्ती क्या करें, आखिर पूरे प्रदेश की जिम्मेदारी का मामला जो ठहरा। पर अब तक मैं कमलनाथ से जब भी मिला हूं, वे पर्याप्त बतियाएं, खुल कर बोले और घड़ी उन्हें देखनी नहीं पड़ी, क्योंकि मैं जब भी मिला वे व्यस्त होने के बावजूद फुर्सत में थे। पता नहीं कैसे राजनीतिज्ञ है कमलनाथ, बहुत बेलाग बोलते हैँ और खुल कर सामने आते हैं। बोल दिया आफ दि रिकार्ड तो मान लेते हैं कि ऐसा ही होगा। शिवराज के पास आफ दि रिकार्ड और आन दि रिकार्ड कुछ है ही नहीं। मीडिया के अपने मित्रों में शिवराज अकेले में बहुत असहज दिखते हैं। सार्वजनिक तौर पर वे सहज हैं।  आगे पढ़ें

Previous 1 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति