होम बिजली
state-government-cm-resentful-of-power-cuts-resent

बिजली कटौती से घबराई प्रदेश सरकार, सीएम ने दिखाई नाराजगी, विभागीय अफसरों से मांगा जवाब

चंबल-ग्वालियर के चार जिले श्योपुर, मुरैना, ग्वालियर, दतिया में तो 15 घंटे तक बिजली काटी गई। बिजली कंपनियों का मानना है कि ग्वालियर जिले में 1 लाख 48 हजार मीटर खराब हैं, जिनसे रीडिंग नहीं हो पा रही है। ऐसे हालात में बिजली कटौती के अलावा कंपनी के पास कोई विकल्प नहीं है। इधर, अपर मुख्य सचिव आईसीपी केसरी ने मंगलवार को सभी जिलों के अधीक्षण यंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग भी की है।  आगे पढ़ें

madhya-pradesh-government-pays-6-thousand-crores-o

मध्यप्रदेश: बिजली कंपनी के रिकार्ड में आधू मजदूरों के, 6 हजार करोड़ का बिल चुकाती है सरकार

ऐसे उपभोक्ता जिनके पास मजदूरी कार्ड है। घर का लोड 1 हजार वाट है। उसे 200 रुपए प्रति महीने के हिसाब से बिजली दी जाएगी। समाधान योजना में कोई शर्त नहीं है। मजदूरी कार्ड के आधार पर बिल बकाया माफ किया जाएगा। जिसके चलते सालों से डिफॉल्टर चले आ रहे लोगों का लाखों रुपए का बिल माफ हो गया। माफी के बाद सरल योजना के तहत 200 रुपए में बिजली भी ले ली। राज्य में सरकार बदलने के बाद सरल व समाधान योजना का नाम बदलकर इंदिरा गृह ज्योति योजना कर दिया है। 2 जुलाई 2018 से 11 अप्रैल 2019 तक 74 लाख 37 हजार उपभोक्ताओं को इस योजना से लाभ मिला है। प्रदेश के 52 जिलों में 9 महीन में यह लाभ मिला है।  आगे पढ़ें

rajadhani-mein-der-rat-mausam-ne-lee-karavat-tej-b

राजधानी में देर रात मौसम ने ली करवट, तेज बारिश के बाद गिरे ओले

शहर में देर रात 1.35 बजे तेज बारिश के साथ ओले गिरे। इस दौरान कई इलाकों की बिजली चली गई। करीब 10 मिनट तक छोटे ओले गिरते रहे। अचानक हुई इस ओलावृष्टि से फसलों को नुकसान की आशंका जताई जा रही है। मौसम विभाग के मुताबिक राजस्थान पर बने सिस्टम के कारण वातावरण में नमी आने से ग्वालियर चंबल संभाग, बैतूल, हरदा, खंडवा, देवास, सतना, छिंदवाड़ा, सिवनी, सागर, जबलपुर, राजगढ़, उमरिया, मंदसौर, नीमच जिले में हल्की बौछारें भी पड़ सकती हैं।  आगे पढ़ें

modi-sarakar-kee-mahatvakankshie-yojana-antim-char

मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी योजना अंतिम चरण में, इस महीने के अंत तक सभी घरों में पहुंच जाएगी बिजली

सरकारी वेबसाइटट पर जारी आंकड़ों के अनुसार, 8,500 घर राजस्थान के उदयपुर में हैं, जहां बिजली पहुंचाई जानी है। छत्तीसगढ़ में 20,000 घर हैं जहां तक अभी बिजली नहीं पहुंची है। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित इलाके में आने वाले शहर बीजापुर, नारायणपुर, दंतेवाड़ा और सुकमा ऐसे जिले हैं जिनमें कुल 20 हजार घरों का अभी विद्युतीकरण होना है। 553 गांवों में रह रहे इन 20 हजार परिवारों तक बिजली पहुंचाने का काम हो रहा है।  आगे पढ़ें

kisanon-ko-ek-aur-badee-saugaat-dene-ki-taiyari-me

किसानों को एक और बड़ी सौगात देने की तैयारी में नाथ सरकार, बिजली बिल हो सकता है आधा

प्रदेश सरकार कर्जमाफी के बाद मप्र के किसानों को एक और बड़ी सौगात देने की तैयारी कर रही है। इसके तहत प्रदेश के किसानों का बिजली बिल आधा किया जा सकता है। ऊर्जा विभाग ने इसका प्रस्ताव तैयार कर लिया है।कैबिनेट में प्रस्ताव लाने से पहले इसे वित्त विभाग को भेजा गया। विभाग ने इसमें होने वाले खर्च और लाभांवित होने वाले किसानों की जानकारी ऊर्जा विभाग से मांगी है  आगे पढ़ें

talkh-hua-mausam-ka-mijaaj-himaachal-mein-barphaba

तल्ख हुआ मौसम का मिजाज, हिमाचल में बर्फबारी से लोगों की बढ़ी परेशानी, 60 सड़कें हुईं बंद

गंगोत्री और यमुनोत्री हाईवे कई स्थानों पर बंद है। केदारघाटी का भी यही हाल है। केदारनाथ में कई जगह पांच से छह फीट बर्फ जमा हो चुकी है। गौरीकुंड और केदारनाथ के बीच भारी बर्फबारी से बिजली लाइन क्षतिग्रस्त होने के कारण केदारनाथ में चौथे दिन भी बिजली की आपूर्ति बहाल नहीं की जा सकी। चमोली में बदरीनाथ और हेमकुंड साहिब के अलावा जोशीमठ, औली और गोरसो बुग्याल में जबरदस्त हिमपात हुआ है। उधर, सोमवार से रुद्रप्रयाग के चोपता में फंसे 70 से ज्यादा पर्यटकों को एसडीआरएफ की टीम ने सकुशल निकाल लिया।  आगे पढ़ें

bijalee-mudde-par-seeem-naath-ne-teekhe-tevar-adhi

बिजली मुद्दे पर सीएम नाथ ने तीखे तेवर, अधिकारियों से पूछा जब प्रदेश में सरप्लस बिजली है तो कटौती क्यों होती है

मंत्रिमंडल गठन के बाद बुधवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ की अध्यक्षता में पहली कैबिनेट हुई। इसमें ऊर्जा विभाग की समीक्षा की गई। इस दौरान मुख्यमंत्री ने तेवर दिखाते हुए कई बार अधिकारियों को टोका और निर्देश दिए। उन्होंने पूछा कि जब प्रदेश में सरप्लस बिजली के दावे किए जाते हैं तो फिर कटौती क्यों हो रही है।  आगे पढ़ें

cm-se-mantriyon-kee-maang-bijalee-bil-voosalee-mei

सीएम से मंत्रियों की मांग, बिजली बिल वूसली में अधिकारी कर रहे मनमानी, तत्काल लगाएं रोक

बैठक में मंत्रियों ने मुख्यमंत्री कमलनाथ से कहा कि बिजली बिल की वसूली में अधिकारी मनमानी कर रहे हैं। इस पर तत्काल रोक लगाई जाए। सूत्रों के मुताबिक, अनौपचारिक कैबिनेट बैठक में मंत्रियों ने कहा कि बिजली कंपनियां किसानों को नोटिस दे रही हैं। जब्ती बना रही हैं। इससे किसान परेशान हो रहे हैं।  आगे पढ़ें

bijalee-ka-bil-adhik-aane-se-naaraaj-mumbee-adaane

बिजली का बिल ज्यादा आने से नाराज मुंबई वाले, अडाणी की कंपनी पर उपभोक्ताओं को लूटने का आरोप

अडाणी इलेक्ट्रिसिटी ने कहा कि महाराष्ट्र इलेक्ट्रिसिटी रेग्युलेटरी कमिशन ने एक याचिका पर सुनवाई करते हुए टैरिफ बढ़ाने का आदेश दिया, इसलिए बिजली बिल में वृद्धि हुई है। कंपनी का दावा है कि अक्टूबर महीने में बिजली की खपत भी 18% बढ़ गई। यानी, लोगों ने ज्यादा बिजली खर्च की, इसलिए भी उनका बिल बढ़ा है।  आगे पढ़ें

baar-baar-bijalee-gul-hone-se-pareshaan-hurin-hema

बार-बार बिजली गुल होने से परेशान हुर्इं हेमा मालिनी, मोबाइल की रोशनी में पढ़ा भाषण

सांसद हेमा मालिनी की सभा में बार-बार बिजली गुल होने से शर्मिंदगी का सबब बन गया। बिजली गुल होने पर हेमा को मोबाइल के टॉर्च की रोशनी से अपना भाषण पूरा करना पड़ा। दरअसल मथुरा से बीजेपी सांसद हेमा मालिनी बुधवार को भोपाल की नरेला सीट से बीजेपी उम्मीदवार विश्वास सारंग के लिए प्रचार करने पहुंच थी जहां हेमा को सुनने के लिए काफी भीड़ मौजूद थी।  आगे पढ़ें

Previous 1 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति