होम प्रधानमंत्री
‘kunvaari-dulhan’-ke-darshak-aur-‘pm-narendr-modie

कुंवारी दुल्हन के दर्शक और पीएम नरेंद्र मोदी पर रोक

यह सही है कि फिल्में भारतीय जनमानस को बहुत अधिक प्रभावित करती हैं। किंतु ऐसी फिल्में कम से कम ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ या ‘इंदू सरकार’ की श्रेणी वाली नहीं होती हैं। इस स्तर की फिल्मों का यदि प्रभाव पड़ना होता तो सर रिचर्ड एटेनबरो की ‘गांधी’ या विधु विनोद चोपड़ा की ‘लगे रहो मुन्नाभाई’ देखने के बाद आधे से ज्यादा हिंदुस्तान सच्चाई और ईमानदारी के उस रास्ते पर चल पड़ा होता, जो रास्ता झूठ तथा नैतिक पतन के भवसागर में समाकर कब का कहीं खत्म हो चुका है। इस वर्ग की फिल्मों के बावजूद न तो केतन मेहता की ‘सरदार’ इस देश को दूसरा वल्लभ भाई पटेल दे सकी और न ही श्याम बेनेगल की ‘नेताजी द फॉरगेटन हीरो’ के बाद नेताजी सुभाषचंद्र बोस के बताये रास्ते पर चलने वाली कोई पौध नजर आयी।  आगे पढ़ें

made-in-japan-formula-to-improve-leaders

नेताओं को सुधारने का ‘मेड इन जापान’ फॉर्मूला

जापान ने रोबोट के प्रोग्राम में बच्चों के झगड़ों के नौ हजार मामले की हिस्ट्री फीड कर दी है। हम तो इतने समृद्ध हैं कि बैठे-बैठे मुंहजबानी ही इस रोबोट को ऐसे नौ लाख किस्से सुना देंगे। ताकि वो हमारे नेताओं के सदाचार से कदाचार तक के सफर को समझकर उन पर अंकुश लगाने के लिए तैयार हो सके। एक बार भोपाल स्थित विधानसभा में कुछ स्कूली बच्चे कार्यवाही देखने लाये गये थे। बाद में एक खबरनवीस ने उनसे इस अनुभव पर सवाल पूछा तो बच्चे बोले, अंदर जितना चीखना-चिल्लाना चल रहा था, उतना शोर तो हमारी क्लास में भी नहीं होता है। इसीलिए अपना मानना है कि देश के नौनिहाल नहीं, बल्कि गुरूघंटाल नेताओं को सुधारने के लिए जापानी रोबोट्स की सख्त दरकार है। नेताओं ने बदमाशी की तमाम विधाओं को मानो पेटेंट करवा लिया है। रोजाना एक-दूसरे से लड़ने का काम तो उनके लिए नित्यकर्म की तरह अनिवार्य हो चुका है। जापान में साल भर में बच्चों के बीच चार लाख झगड़े हुए, हमारे यहां न्यूज चैनलों पर होने वाली बहसों की गिनती कर ली जाए, तो यह आंकड़ा साल भर में शायद चालीस लाख के आसपास कहीं पहुंच जाएगा। हां, एक फर्क है। वह यह कि इन झगड़ों के चलते किसी माननीय ने खुदकुशी नहीं की। आखिर चमड़ी मोटी करने का उनका रियाज और किस दिन काम आएगा!  आगे पढ़ें

corruption-dishonest-and-deceitful-letter-congress

कांग्रेस की तरह ही उसका घोषणा पत्र भ्रष्ट-बेईमान और ढकोसला पत्र : मोदी

पीएम ने कहा कि हम सिर्फ एक वादा करके उसे दशकों तक लटकाये रखने वाले लोग नहीं हैं, बल्कि आपके जीवन को आसान बनाने के लिए पूरी ईमानदारी से काम करने वाले लोग हैं। कांग्रेस के घोषणापत्र को लेकर हमला करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि इन लोगों की तरह इनका घोषणा पत्र भी भ्रष्ट होता है, बेइमान होता है, ढकोसलों से भरा होता है और इसीलिए उसे घोषणा पत्र नहीं ढकोसला पत्र कहना चाहिए।  आगे पढ़ें

shah-overturns-congress-on-bangladeshi-infiltratio

बांग्लादेशी घुसपैठ पर शाह ने कांग्रेस को घेरा, कहा-मोदी फिर पीएम बने तो सब होंगे बाहर

शाह ने कहा कि केवल प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा देश की सीमाओं की सुरक्षा कर सकते हैं। उन्होंने पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक के सुबूत मांगे जाने की आलोचना करते हुए दावा किया कि मोदी के नेतृत्व में अमेरिका और इजरायल के बाद भारत ऐसा तीसरा देश बन गया है, जिसने अपने सैनिकों के खून का बदला लिया है।  आगे पढ़ें

but-they-will-never-come-to-shame

..लेकिन इनको नहीं आयेगी शर्म कभी भी

न तो डीआरडीओ किसी राजनीतिक दल का झंडा या विचारधारा की किताब लेकर चलती है और न ही इस देश की महान सेना का चरित्र इस तरह का रहा है। चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर भी किसी को संदेह नहीं होना चाहिए। तीनों ही संस्थाओं को केवल और केवल अपने वतन से मतलब है। लेकिन ऐसे महान तथा निर्विवाद संगठनों की गतिविधियों को भी राजनीतिक चोला पहचाने की कोशिश की जाए तो इस पर खामोश रहना कठिन होना चाहिए। मोदी यदि इस कामयाबी पर सियासी लाभ लेने की अनुचित कोशिश कर रहे हैं तो राहुल गांधी भी इसकी बधाई के साथ विश्व रंगमंच दिवस का पुछल्ला जोड़कर राजनीतिक रंगमंच पर किसी भांड की तरह का आचरण करते ही दिख रहे हैं। आचरण के लिहाज से गिरगिटों की समूची प्रजाति को बदरंग करने में सक्षम आम आदमी पार्टी का तो खैर क्या कहना! डर तो यह है कि कहीं ममता बनर्जी एंड कंपनी इस बात का सबूत मांगने के लिए न पिल पड़ें कि वाकई हमारे पास कोई ऐसी एंटी सैटेलाइट मिसाइल है, जिसने सही में एक लाइव सैटेलाइट को मार गिराया है। read more  आगे पढ़ें

mayawati-pm-candidate-for-lok-sabha-polls-will-not

लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी मायावती, पीएम पद के लिए पेश की दावेदारी

मायावती ने ट्वीट किया, 'जिस प्रकार 1995 में जब मैं पहली बार यूपी की सीएम बनी थी, तब मैं यूपी के किसी भी सदन की सदस्य नहीं थी। ठीक उसी प्रकार केंद्र में भी प्रधानमंत्री या मंत्री को 6 महीने के भीतर लोकसभा या राज्यसभा का सदस्य बनना होता है। इसीलिए अभी मेरे चुनाव नहीं लड़ने के फैसले से लोगों को कतई मायूस नहीं होना चाहिए।' जिस प्रकार 1995 में जब मैं पहली बार यूपी की सीएम बनी थी तब मैं यूपी के किसी भी सदन की सदस्य नहीं थी। ठीक उसी प्रकार केन्द्र में भी पीएम/मंत्री को 6 माह के भीतर लोकसभा/राज्यसभा का सदस्य बनना होता है। इसीलिये अभी मेरे चुनाव नहीं लड़ने के फैसले से लोगों को कतई मायूस नहीं होना चाहिये  आगे पढ़ें

modi-said-at-the-end-of-89-years-of-dandi-march-ga

दांडी मार्च के 89 साल पूरे होने पर मोदी बोले- गांधीजी चाहते थे कांग्रेस भंग हो जाए

मोदी ने कहा कि गांधीजी असमानता और जातीय बंटवारे में विश्वास नहीं करते थे। लेकिन दुखद है कि कांग्रेस कभी समाज को तोड़ने में नहीं झिझकी। सबसे बुरे जातीय दंगे और दलित विरोधी नरसंहार कांग्रेस के शासन में हुए। कुशासन और भ्रष्टाचार हमेशा साथ-साथ चलते है गांधीजी के इस वक्तव्य को दोहराते हुए मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने भ्रष्टाचारियों को सजा दिलाने के लिए सबकुछ किया, देश देख चुका है कि कांग्रेस और भ्रष्टाचार किस तरह एक दूसरे के पर्यायवाची बन गए थे।  आगे पढ़ें

news-nation-survey-nda-seats-will-be-less-than-las

न्यूज नेशन का सर्वे: एनडीए की पिछले चुनाव के मुकाबले कम होंगी सीटें, यूपीए को मिलेंगी 140 सीटें

न्यूज नैशन प्रोजक्शन के सर्वे में एनडीए को 268 से 272, यूपीए को 132 से 136 और अन्य को 137 से 141 सीटें दी गई हैं। हालांकि अगर महागठबंधन होता है तो एनडीए को नुकसान उठाना होगा। सर्वे के मुताबिक एनडीए का वोट शेयर 34% और यूपीए का 28% रह सकता है। 2014 के आम चुनाव में बीजेपी का वोटशेयर 31.3% था। पिछले लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में बीजेपी ने बीएसपी का सूपड़ा साफ कर दिया था। बीजेपी ने 71 और सहयोगी अपना दल ने 2 सीटें जीती थीं। लेकिन इस बार बीजेपी से टकराने के लिए एसपी और बीएसपी साथ आ गए हैं। ऐसे में अगर बीएसपी, एसपी और आरएलडी का गठबंधन बना रहता है तो बीजेपी को 33 से 37 सीटों से संतोष करना पड़ सकता है। हालांकि इसकी भरपाई पश्चिम बंगाल और उत्तर-पूर्व के राज्यों से होती दिख रही है। एसपी-बीएसपी गठबंधन को 41 से 45 और अन्य को 01 से 03 सीटें मिलने का अनुमान है  आगे पढ़ें

modis-last-public-meeting-in-noida-before-todays-c

आचार संहिता से पहले से नोएडा में मोदी की आखिरी जनसभा आज, देंगे कई सोगात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज ग्रेटर नोएडा स्थित पंडित दीन दयाल उपाध्याय पुरातत्व संस्थान परिसर और नोएडा में ब्लू लाइन मेट्रो के विस्तार रूट का लोकार्पण करेंगे। साथ ही खुर्जा में 1320 मेगावॉट के पावर स्टेशन और बिहार के बक्सर में प्रस्तावित 1320 मेगावॉट के पावर स्टेशन का शिलान्यास विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए करेंगे। इसके बाद पहली बार ग्रेटर नोएडा में उनकी जनसभा होगी। माना जा रहा है कि चुनाव आचार संहिता लागू होने से पहले पीएम की यह आखिरी जनसभा होगी, इसमें वह खास घोषणाएं कर सकते हैं।  आगे पढ़ें

pak-under-pressure-after-the-pulwama-attack-imran-

पुलवामा हमले के बाद दबाव में पाक, इमरान बोले- अब किसी आतंकी संगठन को नहीं चलने देंगे

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि उनकी सरकार देश में किसी भी आतंकी संगठन को चलने नहीं देगी, जो देश से बाहर हमलों में शामिल हों। बीते साल अगस्त में पीएम पद पर काबिज होने वाले इमरान खान ने पूर्व की सरकारों पर आतंकवाद और अतिवादी संगठनों को बढ़ावा देने के आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि पहले की किसी भी सरकार ने ऐसे संगठनों और लोगों पर कोई ऐक्शन नहीं लिया। इमरान खान का यह कहना ही अपने आप में इस बात का कबूलनामा है कि पाकिस्तान में आतंकी संगठन सक्रिय रहे हैं।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति