होम पाकिस्तान
indias-strong-stand-on-kidnapping-and-conversion-o

पाक में हिंदू लड़कियों के अपहरण व धर्म परिवर्तन पर भारत का कड़ा रुख

रविवार दोपहर सुषमा स्वराज ने घटना से जुड़ी एक मीडिया रिपोर्ट को ट्वीट करते हुए पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त को मामले पर एक रिपोर्ट भेजने के लिए कहा था। इसके तुरंत बाद ही पाक सूचना मंत्री चौधरी ने ट्वीट कर बताया कि पाकिस्तान में इस मामले की जांच हो रही है। उर्दू में ट्वीट करते हुए चौधरी ने लिखा कि पाक पीएम इमरान ने हिंदू लड़कियों संग हुई शर्मसार घटना पर जांच के आदेश दे दिए हैं। पीएम इमरान खान ने सिंध प्रांत के मुख्यमंत्री से बात कर इस मामले पर तुंरत कार्रवाई के सख्त निर्देश दिए हैं।  आगे पढ़ें

sam-pitrodas-statement-attacked-bjp-jaitley-says-i

सैम पित्रोदा के बयान पर हमलावर हुई भाजपा, जेटली बोले- आतंक के खिलाफ बैकफुट पर नहीं खेलेगा भारत

जेटली ने साफ कहा, 'भारत की सिक्यॉरिटी डॉक्ट्रिन अब बदल गई है। आतंकवाद की जहां से उत्पत्ति होती है, अब हम वहां हमला करते हैं। यह उन लोगों के बीच वैचारिक लड़ाई है जो हरसंभव कदमों का इस्तेमाल कर भारत की रक्षा करना चाहते हैं या जो बंधे हाथों से भारत के लिए लड़ना चाहते हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के करीबी सलाहकार पित्रोदा के बयान पर निशाना साधते हुए जेटली ने कहा, 'अगर गुरु (टीचर) की ऐसी सोच है तो कोई भी यह कल्पना कर सकता है कि उनके स्टूडेंट कैसे होंगे।'  आगे पढ़ें

india-had-deployed-nuclear-submarines-in-the-arabi

पाक को जवाब देने भारत ने अरब सागर में तैनात की थी परमाणु पनडुब्बी

नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन डीके शर्मा ने कहा कि नौसेना 'ट्रॉपिक्स' अभ्यास में जुटी थी और इससे उसे जल्दी ही बदलती स्थिति में जवाब देने के लिए पोतों को तैनात करने में मदद मिली। उन्होंने कहा कि सतह, समुद्र के अंदर और हवा में भारतीय नौसेना की श्रेष्ठता के कारण पाकिस्तानी नौसेना की गतिविधियां मकरान तट तक ही सीमित रहीं और वे खुले सागर में नहीं आए।  आगे पढ़ें

all-terrorists-except-hafiz-are-waiting-for-the-si

हाफिज को छोड़ सारे आतंकी हुए अंडरग्राउंड, स्थिति सामान्य होने का कर रहे इंतजार

कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के जवानों पर किए गए हमले के बाद से पाकिस्तान पर आतंकी संगठनों पर कार्रवाई का दबाव बढ़ गया है। भारत पुलवामा हमले की जिम्मेदारी लेने वाले जेईएम चीफ मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित कराने का प्रयास कर रहा है। इसी सप्ताह फ्रांस, अमेरिका और ब्रिटेन की ओर से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पेश प्रस्ताव पर चीन ने वीटो का इस्तेमाल कर रोक लगा दी थी। हालांकि, चीन ने संकेत दिए हैं कि मामले को सुलझा लिया जाएगा। हालिया घटनाक्रम में पाकिस्तान ने जेईएम, जेयूडी और एफआईएफ की संपत्तियों पर भी अपना नियंत्रण कर लिया है। इन संपत्तियों में मस्जिद और मदरसा भी शामिल है।  आगे पढ़ें

burmese-terrorists-demolished-in-myanmar-after-des

बालाकोट में आतंकी ठिकाने नष्ट करने बाद भारतीय सेना ने म्यांमार में भी किए आतंकी ठिकाने ध्वस्त

भारतीय सेना ने म्यांमार की सेना के साथ मिलकर आतंकी ठिकानों के खिलाफ अभियान को अंजाम दिया है। दोनों देशों की सेनाओं ने 17 फरवरी से दो मार्च के बीच पूर्वोत्तर के लिए महत्वपूर्ण मेगा बुनियादी ढांचा परियोजना के लिए खतरा बन रहे आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई की। परियोजनाओं को म्यांमार में सक्रिय उग्रवादी समूह से खतरा था। म्यांमार का विद्रोही समूह अराकान आर्मी ने मिजोरम सीमा पर नए ठिकाने बनाए थे। यह संगठन कलादान परियोजना को निशाना बना रहा था। अराकान आर्मी को काचिन इंडिपेंडेंस आर्मी द्वारा नॉर्थ बॉर्डर चीन तक ट्रेनिंग दी गई थी। सूत्रों के अनुसार, विद्रोहियों ने अरुणाचल से सटे क्षेत्रों से मिजोरम सीमा तक की 1000 किमी की यात्रा की।  आगे पढ़ें

kartarpur-tally-meeting-in-new-delhi-india-did-not

करतारपुर: नई दिल्ली में बैठक टाली, पाक अधिकारियों से हाथ न मिला भारत ने दिया बड़ा संदेश

सूत्रों ने बताया कि संयुक्त चेक-पोस्ट सम्मेलन हॉल में हुई बैठक बहुत ही पेशेवर और व्यावसायिक तरीके से आयोजित की गई। पहले चरण की वार्ता में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करने वाले गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव एससीएल दास ने कहा, बैठक में हाथ नहीं मिलाया। मैंने नमस्ते किया। बस खत्म। पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल द्वारा स्वागत किए जाने की रिपोर्ट को खारिज करते हुए दास ने कहा, हमने बिल्कुल स्पष्ट कर दिया था कि यह एक बहुत ही केंद्रित, पेशेवर और व्यावसायिक तरीके की बैठक है।  आगे पढ़ें

time-for-tough-action-against-china

चीन के खिलाफ सख्त कदम का समय

वर्तमान घटनाक्रम ऐसे समय हुआ है, जब चीन की लगातार कोशिश है कि भारत में निर्यात को और बढ़ाए। उसके इस प्रयास को नाकाम करने के लिए एक बार फिर जनक्रांति की जरूरत है। उसके उत्पादों को न खरीदने का हर भारतीय का संकल्प अजहर मसूद जैसे मानवता के दुश्मन की मदद करने का जबरदस्त प्रतिसाद साबित होगा, इसमें कोई शक नहीं है। राष्ट्रवाद का जो ज्वार पिछले दिनों उठा है उसे साबित करने का यह सही मौका है। यहां सरकार की ओर से भी सख्त कदम की दरकार है। याद रखें कि भारत व चीन दोनों विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के सदस्य हैं। ऐसे में भारत डब्ल्यूटीओ के नियमों के तहत चीनी माल पर टैरिफ या गैरशुल्कीय प्रतिबंध लगाकर चीनी माल को रोक नहीं सकता है। लेकिन डब्ल्यूटीओ के नियमों का हवाला देते हुए चीन ने बोवाइन मीट, फल, सब्जियों, बासमती चावल और कच्चे पदार्थो के भारत से आयात पर बाधाएं उत्पन्न की हैं। ऐेसे में भारत द्वारा भी चीन के लागत से कम मूल्य पर माल भेजकर भारत के बाजार पर कब्जा करने का आधार देकर चीन के कई तरह के माल पर एंटी डंपिंग ड्यूटी लगाकर उन्हें हतोत्साहित करना होगा। read more  आगे पढ़ें

external-affairs-minister-spoke-on-the-neighbor-at

विदेश मंत्री ने पड़ोसी पर बोला हमला, कहा- जब तक आतंक के खिलाफ कार्रवाई नहीं होगी तब तक कोई बातचीत नहीं

सुषमा स्वराज ने कहा कि अगर पाकिस्तान के पीएम इमरान खान इतने ही उदार हैं तो मसूद अजहर को भारत को क्यों नहीं सौंपते। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को कहा कि पुलवामा हमले के बाद उन्होंने कई देशों को अवगत करा दिया कि भारत, पाकिस्तान के साथ हालात को बिगड़ने नहीं देगा, लेकिन उस देश से कोई भी हमला हुआ तो वह चुप नहीं रहेगा। मोदी सरकार की विदेश नीति पर एक थिंक टैंक को संबोधित करते उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को चिंता है कि भारत स्थिति को खराब करेगा और इस मुद्दे पर कई विदेश मंत्रियों के साथ उनका संवाद हुआ।  आगे पढ़ें

indo-pak-tension-continues-after-air-strike-two-fi

एयर स्ट्राइक के बाद भारत-पाक के बीच तनाव जारी, सीएम पर दिखे पड़ोसी के दो लड़ाकू विमान

पुलवामा आतंकी हमले का भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को एयर स्ट्राइक कर जवाब दिया था। पाकिस्तान की बालाकोट में आतंकियों के 13 ठिकानों पर एयरस्ट्राइक करके 200- 300 आतंकी ढेर हो गए। भारत की एयर स्ट्राइक में आतंकियों के मारे जाने से पाकिस्तान बौखला गया है। सीमा पर अंधाधुंध गोलाबारी कर रहा है।  आगे पढ़ें

today-the-last-date-for-declaring-masood-azhar-as-

मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने की आज आखिरी तारीख, दुनिया की चीन पर टिकी नजरें

बताते चलें कि इससे पहले भी तीन बार मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र में प्रस्ताव पारित हो चुका है, लेकिन हर बार चीन ने वीटो कर इसमें अडंगा लगाया है। हालांकि, भारत ने इस बार पुलवामा हमले के गुनहगार मसूद अजहर की घेराबंदी में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी है। नई दिल्ली ने प्रस्ताव को पारित करने में अहम भूमिका निभाने वाले देशों- अमेरिका, सऊदी अरब, यूएई, तुर्की और बीजिंग से प्रस्ताव पर समर्थन के लिए बीते दिनों में कई बार बात की है। फ्रांस ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने के लिए प्रस्ताव लेकर आया जिस पर आज सुनवाई है।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10  ... Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति