होम चीन
army-initiates-new-strategies-for-war-between-neig

पड़ोसी की धमकियों के बीच सेना ने युद्ध की नई रणनीति पर शुरू किया काम, रक्षा मंत्रालय को भेजा प्लान

आईबीजी की आक्रमकता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसमें टैंक्स की संख्या और क्वॉलिटी पर खासा ध्यान दिया गया है, जिससे वह दुश्मन की सीमा पर जाकर जमकर शक्ति प्रदर्शन कर सकें। हमले का काम आर्मी के मुख्य दलों का होगा। ये दल क्रॉस बॉर्डर होनेवाले आक्रमक आॅपरेशन्स को अंजाम देंगे। एक डिविजन में ऐसे कुल चार दल होंगे, जिनमें टैंक और तोप बड़ी संख्या में मौजूद होंगे।  आगे पढ़ें

bharat-ko-nsg-se-bahar-rakhane-ki-koshish-jaarie-r

भारत को एनएसजी से बाहर रखने की कोशिश जारी रखेगा चीन

भारत का मानना है कि उसने भले ही एनपीटी पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं, लेकिन परमाणु अप्रसार के अच्छे रेकॉर्ड के कारण उसे इस ग्रुप में प्रवेश मिलना ही चाहिए। गेंग ने भारत का नाम लिए बगैर कहा, 'हमें लगता है कि हमें इस बारे में पर्याप्त चर्चा की आवश्यकता है और संधि लागू करने में दोहरे मानकों का विरोध करके व्यावहारिक उपायों की तलाश करें।' पेइचिंग में यूनाइटेड नेशन सिक्यॉरिटी काउंसिल के स्थायी पांच सदस्यों की मीटिंग से पहले यह बयान सामने आया है। यूएनएससी की यह मीटिंग परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर थी।  आगे पढ़ें

cheen-par-najar-rakhane-aaj-bhaarat-andamaan-nikob

चीन पर नजर रखने आज भारत अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में खोलेगा तीसरा नेवी बेस

चीन की चुनौतियों को काउंटर करने के लिए भारतीय मिलिटरी लंबे समय से अंडमान पर फोकस कर रही है जो मलक्का जलडमरूमध्य के प्रवेश मार्ग के नजदीक स्थित है। 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जबसे सत्ता संभाली है तब से भारत ने और मजबूत नीति के तहत यहां जहाजों और एयरक्राफ्टों को तैनात किया है। नेवी ने एक बयान में बताया कि नए बेस आईएनएस कोहासा को नौसेना प्रमुख ऐडमिरल सुनील लांबा नेवी को समर्पित करेंगे। यह पोर्ट ब्लेयर से करीब 300 किलोमीटर उत्तर में स्थित है।  आगे पढ़ें

sanyukt-raashtr-ne-kaha-2019-20-mein-tej-raphtaar-

संयुक्त राष्ट्र ने कहा- 2019-20 में तेज रफ्तार से बढ़ेगी भारतीय अर्थव्यवस्था, चीन भी रहेगा पीछे

संयुक्त राष्ट्र की वैश्विक आर्थिक स्थिति और संभावनाएं 2019 रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया है कि 2020-21 में भारत की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 7.4 प्रतिशत रहेगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि वृद्धि को मजबूत निजी उपभोग, अधिक विस्तार वाले वित्तीय रुख और पिछले सुधारों के लाभ से सहारा मिल रहा है। इसमें कहा गया है कि मध्यम अवधि की वृद्धि दर के लिए निजी निवेश में सतत सुधार महत्वपूर्ण है।  आगे पढ़ें

aatankiyon-ke-hamadard-paak-ne-bhaarat-ke-khilaaph

आतंकियों के हमदर्द पाक ने भारत के खिलाफ चली नई चाल, चीन को भड़काने छोड़ा नया शिगूफा

आपको बता दें कि आतंकवाद पर दोहरे रवैये के कारण अमेरिका के नाराज होने के बाद पाकिस्तान अब चीन से नजदीकी बढ़ा रहा है। उधर, सीमा विवाद और डोकलाम जैसे प्रकरण के सामने आने के बावजूद चीन के भारत के साथ अच्छे रिश्ते हैं।  आगे पढ़ें

badhatee-chunautiyon-ke-beech-chinaphing-ne-sena-k

बढ़ती चुनौतियों के बीच चिनफिंग ने सेना को युद्ध की तैयारियों में जुटने का दिया आदेश

चिनफिंग ने पीएलए को चेताते हुए कहा कि तमाम जोखिम और चुनौतियां बढ़ रही हैं, जिसका सामना करने के लिए युद्धक तैयारियां जरूरी हैं। रिपोर्ट के मुताबिक चीनी राष्ट्रपति ने सीएमसी बैठक में कहा कि सभी आर्म्ड फोर्सेज को जोखिमों, संकटों और युद्ध के बारे में जागरूकता बढ़ानी होगी कि पार्टी व लोगों द्वारा दी दिए गए कार्यों को पूरा करने के लिए युद्ध तैयारियों के लिए ठोस प्रयास करने होंगे।  आगे पढ़ें

cheen-apane-mitr-desh-paak-ke-lie-taiyaar-kar-atya

चीन अपने मित्र देश पाक के लिए तैयार कर अत्याधुनिक युद्धतोप, नौसेना की युद्धक क्षमता होगी दोगुनी

चीन के सरकारी अखबार चाइना डेली ने सरकारी रक्षा कांट्रेक्टर चाइना स्टेट शिपबिल्डिंग कॉरपोरेशन (सीएसएससी) के हवाले से लिखा है कि निमार्णाधीन युद्धपोत चीन की नौसेना के सबसे उन्नत फ्रिगेट का संस्करण है। इस फ्रिगेट को गाइडेड मिसाइल से लैस किया गया है। सीएसएससी ने हालांकि यह जाहिर नहीं किया कि किस प्रकार के युद्धपोत का निर्माण किया जा रहा है, लेकिन यह जरूर बताया कि इसका निर्माण शंघाई के हुडोंग-झोंघुआ शिपयार्ड में किया जा रहा है।  आगे पढ़ें

cheen-phir-badhaega-bhaarat-ka-tenshan-paakistaan-

चीन फिर बढ़ाएगा भारत का टेंशन, पाकिस्तान को वित्तीय संकट से उबारने करेगा मदद

पिछले महीने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने चीन का दौरा किया था ताकि अपने देश की असफल आर्थिक स्थिति को दूर करने के लिए वह वहां से आर्थिक पैकेज प्राप्त कर सकें। पेइचिंग से लौटने पर उनके कैबिनेट सदस्यों ने दावा किया कि यह यात्रा सबसे सफल थी और इसकी वजह से बकाया के लिए अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष पर इस्लामाबाद की निर्भरता को कम करने में मदद मिली थी।  आगे पढ़ें

tairiph-kee-vajah-se-nukasaan-jhel-rahe-amerika-au

टैरिफ की वजह से नुकसान झेल रहे अमेरिका और चीन में बनी सहमति, 1 जनवरी से नहीं लगेगा नया कर

द्विपक्षीय बातचीत से पहले ट्रंप और शी ने ब्यूनस आयर्स में डिनर के दौरान कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की। ट्रंप ने डिनर की शुरूआत में संवाददाताओं को बताया था, 'हम ऐसे मोड़ पर यह खत्म करेंगे, जिससे चीन और अमेरिका दोनों के लिए अच्छा होगा। यह संबंध बहुत विशेष है।' शी ने ट्रंप के साथ अपनी निजी दोस्ती का उल्लेख करते हुए उनके साथ मिलकर काम करने की इच्छा जताई ताकि वैश्विक अर्थव्यवस्था इससे लाभान्वित हो सके। शी ने कहा, 'सिर्फ हमारे बीच सहयोग से ही हम वैश्विक शांति और समृद्धि हासिल हो सकती है।' वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि शनिवार की बैठक बहुत महत्वपूर्ण रही।  आगे पढ़ें

Previous 1 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति