होम कांग्रेस कार्यसमिति
describing-the-definition-of-patriotism-priyanka-c

देशभक्ति की परिभाषा बताकर प्रियंका ने छेड़ी नई बहस, भाजपा ने सवालों की लगाई झड़ी

गुजरात की कांग्रेस कार्यसमिति में पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सही वोट और जागरूकता को देशभक्ति की नई परिभाषा बताकर बहस खड़ी की तो अगले ही दिन भाजपा ने सवालों की झड़ी लगा दी। छह घटनाएं याद दिलाकर उनसे जवाब मांगे हैं। बुधवार को लखनऊ के भाजपा मुख्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में स्वास्थ्य मंत्री और राज्य सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने प्रियंका से सवाल किए।  आगे पढ़ें

priyanka-gandhi-asked-garibi-in-modis-stronghold-i

मोदी के गढ़ गुजरात में गरजीं प्रियंका गांधी, पूछा- कहां हैं 15 लाख और 2 करोड़ नौकरी

कांग्रेस पार्टी की पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी और महासचिव बनने के बाद प्रियंका गांधी ने पहली बार मंगलवार को गुजरात के गांधीनगर में जनसभा को संबोधित किया। करीब 10 मिनट के अपने नपे-तुले संबोधन में महात्मा गांधी, प्रेम और अहिंसा की बात करते हुए सत्तारूढ़ पार्टी पर निशाना साधा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लिए बिना प्रियंका ने कहा कि पूछिए उनसे, कहां हैं 15 लाख रुपये और दो करोड़ नौकरियां। प्रियंका ने मोदी सरकार को 15 लाख और रोजगार के साथ-साथ देशभक्ति पर भी नसीहत दे डाली। उन्होंने कहा कि आज जो कुछ देश में हो रहा है, उससे दुख होता है।  आगे पढ़ें

jisane-paap-na-kiya-ho-jo-papee-na-ho

जिसने पाप ना किया हो, जो पापी ना हो....

तो मोदी सरकार पर भय और नफरत फैलाने के ये आरोप नए नहीं है। पर ताजा आरोपों के संदर्भ में भी गुजरात घटनाक्रम का फायदा कांग्रेस के खाते में ही जाता दिख रहा है। सामने पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव हैं। इसलिए अगर कांग्रेस को फायदा हो रहा है तो यह मान लेना चाहिए कि गुजरात के ताजा घटनाक्रम के पीछे निश्चित तौर पर कांग्रेस और उसके विधायक अल्पेश ठाकोर और उनकी सेना का हाथ है। गुजरात में भाजपा की सरकार है इसलिए उसके हिस्से में सफाई देना और पलायन कर रहे लोगों को सुरक्षा देने का दायित्व है। और जो पलायन कर रहे हैं वे हिन्दू भी हैं तो मान ही लेना चाहिए कि इसमें भाजपा का तो हाथ होने से रहा। हां, अल्पसंख्यकों का पलायन हो रहा होता तो माना जा सकता था कि इस सब के पीछे भाजपा या आरएसएस है।read more  आगे पढ़ें

jaako-prabhu-daarun-dukh-dehee

जाको प्रभु दारुण दुख देही...

कार्यसमिति में मध्यप्रदेश से जिन्हें अपमानित करते हुए नजरंदाज किया गया, वे अधिकांश लोग ऐसे हैं, जो वर्तमान में इस राज्य में कांग्रेस की सरकार बनाने के लिए दिन-रात एक किए हुए हैं। प्रदेश कांग्रेसाध्यक्ष कमलनाथ और नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह को विस्तारित कार्यसमिति में शामिल होने के मौके मिल जाएंगे। लेकिन जब कमलनाथ, दिग्विजय सिंह, सत्यव्रत चतुवेर्दी पार्टी के महासचिव थे, तब वे भी कार्यसमिति में शामिल थे। read more  आगे पढ़ें

Previous 1 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति