होम कर्ज माफ
mp-kisaan-karj-maaphee-rn-khaate-se-aadhaar-link-k

मप्र किसान कर्ज माफी: ऋण खाते से आधार लिंक कराना है जरूरी, तभी मिलेगा लाभ

एमपी आनलाइन द्वारा 15 जनवरी से लाइव पोर्टल चालू किया जा रहा है, जिस पर किसानों से मिलने वाले आवेदन आॅनलाइन अपडेट किए जाएंगे। किसानों को तीन श्रेणियों में रखा जाएगा। किसान जिस श्रेणी में आएगा उसे उस रंग का फॉर्म भरना होगा, फार्म किसान को निशुल्क मिलेगा। योजना से जिले के लगभग 70 हजार किसान लाभान्वित होंगे।  आगे पढ़ें

yah-beemaar-ka-ilaaj-hai-beemaaree-ka-nahin

यह बीमार का इलाज है, बीमारी का नहीं

ऐसा हर उस मामले में होता है, जहां केवल बीमार का उपचार किया जाता है, बीमारी का नहीं। बात का ताजातरीन संदर्भ मध्यप्रदेश है। लेकिन ऐसे सियासी डॉक्टर सारे देश में हैं, जो बीमारी की बजाय केवल बीमार का उपचार कर रहे हैं। जानबूझकर। किसी षड़यंत्र के तहत। अपना उल्लू सीधा करने के लिए। आप बेशक कमलनाथ की तारीफ कर सकते हैं कि उन्होंने किसानों का कर्ज माफ करने की घोषणा कुछ हद तक पूरी की है। लेकिन इसे किसी उल्लेखनीय काम की संज्ञा नहीं दी जा सकती। क्योंकि इससे कर्ज का मर्ज तो कायम ही रहेगा। उलटे यह मर्ज और बढ़ जाएगा।  आगे पढ़ें

sarakaar-kisaanon-kee-madad-karane-kee-yojana-kee-

सरकार किसानों की मदद वाली योजना की तैयारी में, डायरेक्ट इनकम ट्रांसफर पर कर रही विचार

सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य की व्यवस्था में और बदलाव करने पर विचार कर रही है ताकि इसे ज्यादा प्रभावी बनाया जा सके, साथ ही वह खेती से कम आमदनी की भरपाई करने के लिए डायरेक्ट इनकम ट्रांसफर के बारे में भी सोच रही है।  आगे पढ़ें

ham-badalenge-yug-badalenge

हम बदलेंगे, युग बदलेगा

देश में बदलाव का दौर है। तीन हिंदी भाषी राज्यों ने बदलाव कर दिया है। अब आम चुनाव की वेला नजदीक आ रही है। इस बीच कई मुद्दे सोच और कर्म पर हावी हैं। कर्ज माफी की घोषणा के बाद भी किसान आत्महत्या कर रहे हैं। सहिष्णुता बनाम कथित असहिष्णुता का नसीरुद्दीन शाह की सूरत में नया अध्याय आरम्भ हो चुका है। उन्मादी भीड़ पहले निरीह लोगों की जान ले रही थी, अब वह कानून के रखवालों को भी नहीं बख्श रही। भ्रष्टाचार का राफेल बनाम अगस्ता वाला अध्याय हम भी हैं, तुम भी हो, दोनो हैं आमने-सामने की तर्ज पर खूब पढ़ा और गढ़ा जा रहा है। तीन तलाक के सामाजिक बोझ को सियासत की तराजू पर अपने-अपने नफे-नुकसान के हिसाब से तौला जा रहा है। भगवान श्रीराम को टेंट से निकालने के दिखावे फिर जोरों पर हैं और इसके चलते सामाजिक समरसता एक बार फिर तलवार की धार पर चलती दिख रही है। read more  आगे पढ़ें

pradesh-mein-congress-sarakaar-ke-kisaanon-ko-60-h

प्रदेश में कांग्रेस सरकार किसानों को देगी 60 हजार करोड़ की कर्जमाफी, नियमित कर्ज भी होगा शामिल

सिर्फ कर्ज माफी योजना को लेकर बुलाई गई कैबिनेट बैठक में प्रमुख सचिव कृषि डॉ. राजेश राजौरा ने प्रस्तुतिकरण दिया। इसमें बताया गया कि 31 मार्च 2018 की स्थिति में प्रदेश के 61 लाख 20 हजार किसानों के ऊपर 62 हजार 294 करोड़ रुपए का कर्ज है। औसत रूप से एक किसान एक लाख रुपए से ज्यादा का कर्जदार है। इसमें 19 लाख 55 हजार किसानों का 13 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा कालातीत कर्ज भी शामिल है।  आगे पढ़ें

karjamaaphee-par-bole-shivaraaj-kaha-main-kisaanon

कर्जमाफी पर बोले शिवराज: कहा-मैं किसानों के साथ नहीं दूंगा अन्याय, ऐसे छलावों से दूर रहे कांग्रेस

शिवराज ने कहा कि कांग्रेस ये ठीक से जान ले कि मैं सोया नहीं हूं, मैं जाग रहा हूं और मेरी पैनी नजरें उन पर ही हैं। शिवराज ने इससे पहले बुधवार को भी भाजपा कार्यकर्ताओं से कहा था कि कर्ज माफी का मतलब है कि जिसने पैसा समय पर दे दिया, उसका भी कर्ज माफ किया जाए। इसके लिए पूरे प्रदेश में लड़ाई लड़ूंगा।  आगे पढ़ें

naath-ke-lie-asalee-aanandam-kee-chunautee

नाथ के लिए वास्तविक आनंदम की चुनौती

प्रत्येक वर्ग की तरह मीडिया में भी उत्साहियों का एक हुजूम होता है। इसलिए नाथ की मंशा मात्र को उन्होंने पुलिसकर्मियों के लिए साप्ताहिक अवकाश की घोषणा मानकर प्रमुखता से प्रकाशित कर दिया। कम से कम यह तो सोचना ही होगा कि क्या वाकई पुलिस में छुट्टी की ऐसी प्रक्रिया लागू करना आसान है? शिवराज सिंह चौहान भी इस दिशा में चिंतन ही करते रह गये। नाथ की चिंता वाजिब है, किंतु उसे व्यावहारिक जामा पहनाने के लिए बहुत पापड़ बेलना होंगे। सन 2014 का आंकड़ा बताता है कि राज्य में एक लाख की आबादी के लिए महज 112 पुलिसकर्मी मौजूद हैं। read more  आगे पढ़ें

chhatteesagadh-kisaanon-se-vaadaakhilaaphee-par-bh

छत्तीसगढ़: किसानों से वादाखिलाफी पर भाजपा ने कांग्रेस पर कसा तंज, कहा गंगाजल बन जाएगा एसिड

असमय बारिश से किसानों को भारी नुकसान हुआ है, जिसकी भरपाई के तौर पर किसानों को शीघ्र ही मुआवजा मिलना चाहिए। किसानों को रिजर्व बैंक से मान्यता प्राप्त सभी बैंकों से कृषि ऋण तत्काल माफ होना चाहिए। साथ ही बिजली बिल आधा करने की घोषणा पर तत्काल अमल होना चाहिए।  आगे पढ़ें

karj-maaphee-ka-sabase-jyaada-laabh-indaur-sanskaa

कर्ज माफी का सबसे ज्यादा फायदा इंदौर संभाग को, छह लाख से ज्यादा किसान कर्जदार

प्रदेश में किसानों को खेती के लिए अल्पावधि कर्ज सवा चार हजार से ज्यादा प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के माध्यम से जिला सहकारी बैंक देते हैं। करीब 34 लाख किसानों को 38 जिला बैंकों के माध्यम से सवा अठ्ठारह हजार करोड़ का कर्ज बांटा है।  आगे पढ़ें

कमलनाथ-आज-सीएम-पद-की-शपथ-लेते-हुए-कर-सकते-हैं-किसा

कमलनाथ आज सीएम पद की शपथ लेते ही कर सकते हैं किसानों के कर्ज माफी की घोषणा

कांग्रेस के वचन पत्र में सबसे बड़ा मुद्दा कर्ज माफी ही है। राहुल गांधी इसे लोकसभा चुनाव का सबसे बड़ा मुद्दा बनाना चाहते हैं और इस रणनीति के तहत कांग्रेस शासित राज्यों में कर्ज माफी प्राथमिकता के आधार पर की जा रही है। कांग्रेस को बहुमत मिलते ही कृषि, सहकारिता और वित्त विभाग ने इसकी तैयारी भी शुरू कर दी थी।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति