होम एकजुट
ekajut-bjp-virodhi-vipaksh-ne-ek-sath-ki-baithak-p

एकजुट भाजपा विरोधी विपक्ष ने एक साथ की बैठक, पहली बार मिले राहुल-केजरीवाल

बैठक के बाद राहुल ने संवाददाताओं से कहा कि विपक्ष के नेता साझा न्यूनतम कार्यक्रम तैयार करने पर सहमत हो गए हैं। भाजपा को हराने के लिए हम एकजुट होकर काम करेंगे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वार्ता को सकारात्मक बताया और कहा कि विपक्ष एकजुट होकर काम करेगा। बैठक से संकेत मिला है कि दिल्ली में 2015 में सत्ता में आने के बाद से एक दूसरे की विरोधी रही आप और कांग्रेस के बीच गठबंधन बन सकता है। तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बैठक को सार्थक बताया और जोर देकर कहा कि हम चुनाव पूर्व गठबंधन करेंगे।  आगे पढ़ें

am-chunav-se-pahale-phand-ke-bahane-karyakartaon-k

आम चुनाव से पहले फंड के बहाने कार्यकर्ताओं को एकजुट करने में जुटी भाजपा

बता दें कि बीजेपी 11 फरवरी को पंडित दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि के उपलक्ष्य में समर्पण दिवस के रूप में मनाती है। वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मध्यप्रदेश के दो दिन के दौरे पर आ रहे हैं। वो 15 और 16 फरवरी को प्रदेश में रहेंगे यहां से लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार की शुरूआत करेंगे। पीएम नरेन्द्र मोदी 15 और 16 फरबरी को एमपी दौरे पर आएंगे। वो 15 तारीख को होशंगाबाद से प्रदेश में लोकसभा चुनाव प्रचार अभियान का शंखनाद करेंगे। इसके अगले ही दिन 16 फरवरी को वो धार जाएंगे। वहां भी पीएम का कार्यक्रम है।  आगे पढ़ें

gathabandhan-ko-majaboot-karane-mein-jutee-bhaajap

गठबंधन को मजबूत करने में जुटी भाजपा, नाराज पासवान को शाह ने मनाया

बिहार के प्रभारी महासचिव भूपेंद्र यादव ने पहले घर जाकर केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान और चिराग से मुलाकात की। फिर उन्हें साथ लेकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के पास पहुंचे। सूत्रों का कहना है कि वहां सीटों की संख्या तय हो गई। भाजपा और जदयू 17-17 सीटों पर और लोजपा छह सीटों पर चुनाव लड़ेगी। इस संख्या से लोजपा को भी एतराज नहीं है।  आगे पढ़ें

teen-raajyon-ke-haath-samaaroh-mein-nahin-dikhee-m

तीन राज्यों के शपथ समारोह में नहीं दिखी महागठबंधन की झलक, माया, ममता और अखिलेश ने किया किनारा

मध्य प्रदेश में बसपा के दो विधायकों का समर्थन बहुमत के लिए तो अपरिहार्य है। अगले लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश को विपक्षी गठबंधन का लिटमस टेस्ट माना जा रहा। हालांकि, मायावती और अखिलेश कांग्रेस को सस्पेंस में रख रहे हैं। पिछले हफ्ते विपक्षी पार्टियों की बैठक में भी ये दोनों नेता शामिल नहीं हुए थे। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इन तीनों समारोहों में विपक्षी नेताओं के शिरकत की अगुआई की।  आगे पढ़ें

Previous 1 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति