होम आतंकवाद
sheila-dikshit-said-manmohans-stance-against-terro

शीला दीक्षित बोलीं: आतंक के खिलाफ मनमोहन का रुख मोदी जैसा सख्त नहीं, भाजपा ने किया धन्यवाद

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित ने गुरुवार को ऐसा कुछ बोल दिया जो एक तरफ बीजेपी को भा गया, तो दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी ने उन्हें निशाने पर लिया। उनके इस कथित बयान से अब उनकी अपनी पार्टी के लिए यह मुसीबत खड़ी हो सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार शीला दीक्षित ने कहा है कि पूर्व पीएम मनमोहन सिंह आतंकवाद को लेकर उतने सख्त नहीं थे, जितने कि पीएम मोदी हैं। लेकिन इसके बाद शीला दीक्षित ने इस पर सफाई दी है। उन्होंने कहा है कि उनके बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है।  आगे पढ़ें

external-affairs-minister-spoke-on-the-neighbor-at

विदेश मंत्री ने पड़ोसी पर बोला हमला, कहा- जब तक आतंक के खिलाफ कार्रवाई नहीं होगी तब तक कोई बातचीत नहीं

सुषमा स्वराज ने कहा कि अगर पाकिस्तान के पीएम इमरान खान इतने ही उदार हैं तो मसूद अजहर को भारत को क्यों नहीं सौंपते। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को कहा कि पुलवामा हमले के बाद उन्होंने कई देशों को अवगत करा दिया कि भारत, पाकिस्तान के साथ हालात को बिगड़ने नहीं देगा, लेकिन उस देश से कोई भी हमला हुआ तो वह चुप नहीं रहेगा। मोदी सरकार की विदेश नीति पर एक थिंक टैंक को संबोधित करते उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को चिंता है कि भारत स्थिति को खराब करेगा और इस मुद्दे पर कई विदेश मंत्रियों के साथ उनका संवाद हुआ।  आगे पढ़ें

today-the-last-date-for-declaring-masood-azhar-as-

मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने की आज आखिरी तारीख, दुनिया की चीन पर टिकी नजरें

बताते चलें कि इससे पहले भी तीन बार मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र में प्रस्ताव पारित हो चुका है, लेकिन हर बार चीन ने वीटो कर इसमें अडंगा लगाया है। हालांकि, भारत ने इस बार पुलवामा हमले के गुनहगार मसूद अजहर की घेराबंदी में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी है। नई दिल्ली ने प्रस्ताव को पारित करने में अहम भूमिका निभाने वाले देशों- अमेरिका, सऊदी अरब, यूएई, तुर्की और बीजिंग से प्रस्ताव पर समर्थन के लिए बीते दिनों में कई बार बात की है। फ्रांस ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने के लिए प्रस्ताव लेकर आया जिस पर आज सुनवाई है।  आगे पढ़ें

decision-in-the-un-to-declare-masood-a-global-terr

मसूद को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने यूएन में फैसला कल, भारत ने पड़ोसी देशों के साथ की घेराबंदी

चीन, सऊदी, यूएई और तुर्की सभी पाकिस्तान के करीबी साझेदार हैं। पाकिस्तान को प्रभावित करने में अमेरिका महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता हैं। इस बीच, बीजिंग ने सोमवार को 1267 समिति से कहा कि उसने "जिम्मेदार रवैया" अपनाया है और यह समाधान "केवल जिम्मेदार चर्चा के माध्यम से" संभव है। चीन ने कहा कि पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के बाद पाकिस्तान और भारत के बीच तनाव को कम करने में अपनी बातचीत में सुरक्षा मुद्दों को एक महत्वपूर्ण विषय बनाया गया है। बता दें कि जैश-ए-मोहम्मद ने पुलवामा हमले की जिम्मेदारी ली थी जिसके बाद अजहर को एक वैश्विक आतंकवादी घोषित करने के लिए अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में एक प्रस्ताव पेश किया था। रिपोर्टों के अनुसार 13 मार्च को यूएनएससी की '1267 समिति' द्वारा इस प्रस्ताव को उठाये जाने की उम्मीद है।  आगे पढ़ें

modi-stole-treasure-taxes-out-of-power-mamatas-app

मोदी ने खजाना चुरा लिया, सत्ता से बाहर करों, ममता ने की अपील

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को सत्ता से बाहर करने का आह्वान करते हुये उन पर देश का खजाना चुराने का आरोप लगाया और कहा जो राफेल फाइलों को बचा कर नहीं रख सका, वह देश की रक्षा कैसे करेगा।  आगे पढ़ें

america-again-warns-pak-take-action-against-terror

अमेरिका ने पाक को फिर चेताया, आतंकवादी समूहों के खिलाफ कार्रवाई करें

अमेरिका ने पाकिस्तान से अपील की है कि वह पाकिस्तान में मौजूद आतंकवादी समूहों के खिलाफ स्थायी एवं लगातार कार्रवाई करे। विदेश मंत्रालय का यह बयान ऐसे समय में आया है जब पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी हमले और बालाकोट में जैश के आतंकवादी शिविर पर भारत के हवाई हमले के बाद से पाकिस्तान पर आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए वैश्विक दबाव बढ़ा है।  आगे पढ़ें

modi-in-kanpur-pak-paki-caught-by-hand-in-high-pre

कानपुर में बोले मोदी: रंगे हाथों पकड़ा गया पाक आज बेहद दबाव में, हमारे कुछ लोग दे रहे दुश्मन को ताकत

पीएम ने कहा कि पाकिस्तान इस बार रंगे हाथों पकड़ा गया। आज वह दबाव में है। वह दुनिया में मुंह दिखाने लायक नहीं रहा है लेकिन ऐसे लोगों (देश के भीतर मौजूद लोग) के बयान को ही दुनिया में बांटकर भ्रम फैला रहा है। मोदी ने कहा कि देश की सवा सौ करोड़ जनता की ताकत से ही आतंकवाद को जड़ से खत्म किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि आपकी इसी ताकत से मैं आतंक के खिलाफ ऐसे सख्त कदम उठा पा रहा हूं। इस दौरान पीएम ने लखनऊ में पिछले दिनों कश्मीरियों के साथ हुई मारपीट की घटना का भी जिक्र किया और इसके लिए सीएम की तारीफ की।  आगे पढ़ें

there-is-a-hammam-and-it-just

एक हमाम होता है और उसमें बस......

बालाकोट के शिविर में कौन था? कौन नहीं था? कितने मरे और कितने बचे? यह कहीं से भी किसी बहस का हिस्सा नहीं ही होना चाहिए। ना इसे सरकार को अपनी उपलब्धि के तौर पर प्रचारित करने की जरूरत है। चुनाव जीतने के लिए बिखरे हुए विपक्ष के अलावा भी मोदी सरकार की कुछ तो उपलब्धियां है हीं। पाकिस्तान पर वायुसेना के आक्रमण के साथ इस सरकार ने आतंकवाद के खिलाफ अपने सख्त रूख का बार-बार इजहार कर दिया। अब यह सरकार मोदी के नेतृत्व में किसी भी आतंकवादी घटना का प्रतिशोध लेगी, क्या देश के नागरिकों को यह अलग से बताने के लिए ढिंढोरा पीटने की जरूरत बाकी है। विपक्ष की एकता की कोशिशों से चौतरफा घिरे मोदी और भाजपा के लिए एक बहुमत की सरकार की मजबूती और जिसे मोदी महामिलावट बता रहे हैं, इन गठबंधनों का अतीत ही जनता के बीच प्रचारित करना मोदी या भाजपा की कामयाब रणनीति हो सकती है। लेकिन जब फाउल की शुरूआत खुद सत्तारूढ़ दल कर रहा हो तो फिर विपक्ष को किसी सीमा में बांधने का कोई नैतिक अधिकार किसी को कैसे हो सकता है। read more  आगे पढ़ें

chidambaram-asked-who-told-to-die-in-balakot

चिदम्बरम ने पूछा, किसने बताया बालाकोट में तीन सौ मरें?

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने सोमवार को कहा कि भारत के एक गौरवान्वित नागरिक के तौर पर उन्हें पाकिस्तान के बालाकोट स्थित आतंकी शिविर पर की गई वायुसेना की करवाई पर पूरा विश्वास है, लेकिन वहां 300-350 लोगों के मारे जाने की यह संख्या किसने बताई है।  आगे पढ़ें

modi-said-to-the-opposition-please-use-wisely

मोदी ने विपक्ष से कहा, कृपया समझदारी का इस्तेमाल करें

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अमेठी में राफेल को लेकर दिए बयान पर विपक्ष के सवाल खड़ा करने पर कहा है कि विपक्ष कृपया समझदारी का इस्तेमाल करें। गुजरात में विकास कार्यों के उद्धाटन समारोह में बोलते हुए मोदी ने कहा कि भारत आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में चुप नहीं बैठेगा और आतंकवाद की जड़ पाकिस्तान में है और इसका इलाज किया जाएगा।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 4 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति