Untitled Document
प्रमुख खबरें
राजनीति

अब हिंदी सम्मेलन पर दक्षिण में सियासत


 

भोपाल/चेन्नई। राजधानी में विश्व हिंदी सम्मेलन की तैयारियां जोरों पर हैं। मकसद है, हिंदी का और अधिक प्रचार-प्रसार तथा आम जनता को इस भाषा से और नजदीक लाना। इधर, यहां से हजारों किलोमीटर दूर तमिलनाडु में इस सम्मेलन के विरोध की तैयारियां जोरों पर हैं। मकसद है, राज्य में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले एक बार फिर हिंदी के विरोध का मुद्दा भड़काना।

शख्सियत

जमीनी राजनेता की उड़ान!


 

भाजपा में मची लालबत्ती की दौड़ में एक मजबूत नाम हुजूर विधानसभा सीट से विधायक रामेश्वर शर्मा का भी है। हालांकि शर्मा इसके लिए खुलकर संघर्ष या सिफारिश करते कहीं दिखाई नहीं दिए। चुनाव लड़ो या लो लालबत्ती, जैसे विकल्प दिए जाने के बावजूद रामेश्वर मजबूत दावेदार कहे जा सकते हैं।

पावर गैलरी

संघ-BJP समन्‍वय बैठक में उठा राम मंदिर का मुद्दा


 

नई दिल्ली: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) एवं उसके अनुषांगिक संगठनों की तीन दिवसीय समन्वय बैठक के पहले दिन राम मंदिर और अनुच्छेद 370 का मुद्दा प्रमुखता से उठा। बैठक में विहिप ने राम मंदिर का मुद्दा का उठाते हुए कहा कि इस मुद्दे पर जनता के बीच गलत संदेश जा रहा है। मामले में सरकार को सकारात्मक तरीके से आगे बढऩा चाहिए। इस बैठक में मोदी सरकार के तीन दिग्गज राजनाथ सिंह, अरुण जेटली व सुषमा स्वराज भी मौजूद थे।

विचार

संघ पर सियासी सवाल..... !


 

रा ष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भाजपा के बीच हो रही समन्वय बैठक विपक्षी दलों के सवालों के घेरे में आने का अब कोई मतलब नहीं है। विपक्षी दल सवाल उठा रहे हैं कि आखिर संघ की बैठक में मोदी सरकार के मंत्री हाजिरी किसलिए लगा रहे हैं? इस बैठक में बुधवार को गृहमंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह मौजूद थे।

विश्लेषण

बिहार : किसकी जीत और किसकी हार


 

नई दिल्ली ,बिहार में जल्दी ही विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा हो सकती है। राज्य में मुख्य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) एवं मुख्यमंत्री नीतिश कुमार की जेडीयू, पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की आरजेडी एवं कांग्रेस के महागठबंधन के बीच हो सकता है। इस चुनाव पर नजर डालती एबीपी न्यूज के सीनियर प्रोड्यूसर मनोज कुमार की एक रिपोर्ट ‘एबीपी न्यूज’ से साभार प्रस्तुत है।

मनोरंजन

अपने अश्लील एड के कारण फंसी सनी लियोन!


 

मुंबई:ससनी लियोन अपने अश्लील एड और फिल्मों के कारण फंस गई है। हमेशा अपनी छवि के कारण बॉलीवुड में सनी को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। अब उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में मंगलवार को एक रैली को संबोधित करते हुए कॉम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (सीपीआई) के वरिष्ठ नेता अतुल अंजान ने देश में हो रहे बलात्कार जैसी घटनाओं के लिए सनी लियोन को जिम्मेदार ठहराया है। वरिष्ठ नेता अतुल अंजान का कहना है कि सनी लियोन के कॉन्डम विज्ञापन की वजह से देश में रेप बढ़ रहे हैं।

Back to Top